रविवार, 11 जून 2017

The Origin of Linux Operating

Leave a Comment

The-Origin-of-Linux-Operating
हैलो दोस्तों कैसे है आप सब। आज हम आपको बतायेगें एक ऐसे ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में बतायेंगें जो कि पूरी दुनिया में फ्री में उपलब्ध है इसके साथ इस ऑपरेटिंग को हैकर विशेष तौर से इस्तेमाल करते है। मै यहाँ आपको हैकिंग नही सिखाउंगा। लेकिन यह ज़रुर बताउंगा कि यह ऑपरेटिंग आखिर फ्री में क्यो उपलब्ध है। यह ऑपरेटिंग फ्री में उपलब्ध है फिर भी हम सभी लोग विडोज़ ऑपरेटिंग का इस्तेमाल करते है। जो कि एक पेड
ऑपरेटिंग है। मित्रों यह Operating लिनक्स है। लिनक्स का प्रयोग दुनिया भर में बिल्कुल फ्री होता है, और यह विडोज़ ऑपरेटिंग से ज्यादा सेक्योर और इस पर वायरस का हमला भी नही हो पाता है।

इन्हें भी पढ़े 

जानिए गोर्रिला ग्लास की सच्चाई
इन्टरनेट स्पीड की सच्चाई
फेसबुक auto liker का काला सच
विंडोज का registry editor एक मैजिक विंडोज
विंडोज run कमांड software को start करने का आसान  रास्ता
bold italic अब whatsapp में भी
एंड्राइड मोबाइल के 50 सीक्रेट कोड

History Of Linux

लिनक्स दुनिया का सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाला और काफी लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम है। यह विडोज़ और मैक ऑपरेटिंग के मुकाबले काफी कामयाब है। लिनक्स ऑपरेटिंग यूनिक्स ऑपरेटिंग से प्रेरित है। चूकि यूनिक्स को चलाना व समझना काफी मुश्किल है, इसलिये एन्डेयू टेनेबाम जो कम्प्यूटर साइंस के प्रोफेसर थे ने मिमिक्स नामक एक साफ्टवेयर विकासित किया जो यूनिक्स की सहायता के लिये था। लेकिन इनके बनाये साफ्टवेयर में कुछ कमिया थी। इन कमियो को दूर करने के लिये  लिनुस टोरवाल्ड ने जो कम्प्यूटर विज्ञान के छात्र थे ने एक प्रोग्राम लिखा जो लिनुस का यूनिक्स कहलाया जिसे शार्ट में लिनक्स कहा जाने लगा। लिनक्स का पहला करनल सन् 1991 में इंटरनेट पर पोस्ट किया गया।
लिनक्स का सबसे बडी बात यह है कि इस आपरेटिंग का पूरी दुनिया में कोई कम्पनी या मालिक नही है।

Level Of Linux

मुख्यतः लिनक्स के 3 लेवल है।

  • करनल

करनल को सीधे ही कम्प्यूटर में नही चलाया जा सकता है कम्प्यूटर में चलाने के लिये इसको पहले कम्पाईल करना पडता है।

  • डेस्कटाप

कम्प्यूटर में लिनक्स किस प्रकार से दिखे और उसमे  कार्य करने वाले प्रोग्राम कैसे रन करें यह उेस्कटाप पर निर्भर करता है। लिनक्स के दो प्रमुख डेस्कटाप केडीई तथा नोम है।

  • डिस्ट्रीब्यूशन 


करनल को कम्प्यूटर पर चलरने के लिये उसे कम्पाईल करना पडता है। लिनक्स करनल को कम्पाईल करने का कार्य डिस्ट्रीब्यूशन करते है। जिससे लिनक्स कम्प्यूटर पर रन करता है। पूरी दुनिया में लगभग 100 डिस्ट्रीब्यूशन है। जिनमें रेडहैड, डेबियन, उबुन्टू, सुसे आदि है। लेकिन सभी डिस्ट्रीब्यूशन में नोम और केडीई दोनेा जरुर होते हैं।
इन्हें भी पढ़े 

जानिए गोर्रिला ग्लास की सच्चाई
इन्टरनेट स्पीड की सच्चाई
फेसबुक auto liker का काला सच
विंडोज का registry editor एक मैजिक विंडोज
विंडोज run कमांड software को start करने का आसान  रास्ता
bold italic अब whatsapp में भी
एंड्राइड मोबाइल के 50 सीक्रेट कोड

लिनक्स आपरेटिंग उपयोग करने के फायदे

  • यह किसी भी विन्डोज ऑपरेटिंग से काफी सेक्योर होता है। क्योकि इसमें वायरस जैसी कोई समस्या आ ही नही सकती।
  • लिनक्स में आप मनचाहा प्रोग्राम चला सकेत है। और इसे आप अपने अनुसार प्रयोग कर सकते है।
  • पुराने से पुराने कम्प्यूटर में भी लिनक्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। क्योकि इसकी हार्डवेयर रिक्वायरमेंट विन्डोज की अपेक्षा काफी कम है। लो हार्डवेयर काफिगरेशन के साथ भी लिनक्स आपरेटिंग काफी स्मूथ रन करता है।
  • लिनक्स को कम्प्यूटर में इंस्टाल करने के बाद ग्राफिक कार्ड और साउन्ड कार्ड की जरुरत नही होती है। 
  • लिनक्स का इस्तेमाल क्यो करें।
  • लिनक्स एक ऐसा आपरेटिंग सिस्टम है जिसमें वायरस नही आ सकता। जबकि विन्डोज में वायरस आते रहते है। वायरस से बचने के लिये आपको अलग से एक एंटी वायरस साफ्टवेयर इंस्टाल करना पडता है, और इस एंटी वायरस का भी लाइसेन्स पेड करना पडता है।
  • यह बहुत ही सेक्योर और लो मेंनिटनेंस वाला आपरेटिंग सिस्टम है। जबकि विन्डोज एक पेड आपरेटिग सिस्टम है।
  • अगर आप ऐथिकल हैकिंग के क्षेत्र में कैरियर बनाना चाहते है तो आपको लिनक्स आ प्रयोग आना चाहिये। विन्डोज के द्वारा हैकिंग करना मुश्किल है।
  • लिनक्स आपरेटिंग में ओपन आफिस नामक साफ्टवेयर आता है जो एम एस आफिस की तरह कार्य करता है।इसमें फोटोशाप से भी ज्यादा पावरफुल फोटो एडिटिंग का टूल आता है। जो एडोब फोटोशाप को भी टक्कर दे सकता है। और सबसे बडी बात लिनक्स के सभी साफ्टवेयर बिल्कुल फ्री हैं इनके लिये अपको पैसे खर्च करने की जरुरत नही पडेगी।  जबकि विन्डोज आपरेटिंग में एमएस आफिस, और एडोब फोटोशाप के लिये अलग से इनको लाइसेन्स के साथ खरीदना पडता है।
इन्हें भी पढ़े 

जानिए गोर्रिला ग्लास की सच्चाई
इन्टरनेट स्पीड की सच्चाई
फेसबुक auto liker का काला सच
विंडोज का registry editor एक मैजिक विंडोज
विंडोज run कमांड software को start करने का आसान  रास्ता
bold italic अब whatsapp में भी
एंड्राइड मोबाइल के 50 सीक्रेट कोड

लिनक्स के प्रमुख डिस्ट्रीब्यूशन

  1. उबुन्तू लिनक्स
  2. फेडोरा लिनक्स
  3. काली लिनक्स
  4. रेड हैड लिनक्स
  5. डेबियन लिनक्स
  6. एन्ड्रायड

नोट- लिनक्स में एक साफ्टवेयर आता है जिसका नाम है वाइपर। इसके मदद से आप विन्डोज के सारे साफ्टवेयर लिनक्स में चला सकते है। बिल्कुल उसी तरह जैसे आप उन्हे विन्डोज आपरेटिंग में प्रयोग करते है।
एथिकल हैकिंग के लिये सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाला लिनक्स काली है। इस लिनक्स में पहले से ही हैकिंग के सारे टूल प्रीइंस्टाल आते है। अलग से आपको इन्हे इंस्टाल करने की कोई आवश्यकता नही पडती है।
इन्हें भी पढ़े 
जानिए गोर्रिला ग्लास की सच्चाई
इन्टरनेट स्पीड की सच्चाई
फेसबुक auto liker का काला सच
विंडोज का registry editor एक मैजिक विंडोज
विंडोज run कमांड software को start करने का आसान  रास्ता
bold italic अब whatsapp में भी
एंड्राइड मोबाइल के 50 सीक्रेट कोड

तो दोस्तो मेरा यह पोस्ट कैसा लगा हमें जरुर बताईयेगा। आशा है जरुर पसंद आया होगा द्य आप हमारे ब्लाग को फ्री में सब्सक्राइब करें, और पाये विभिन्न लेटेस्ट अपडेट। पोस्ट अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करे, आज के लिए  सिर्फ इतना ही
धन्यवाद

If You Enjoyed This, Take 5 Seconds To Share It

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें