रविवार, 16 अप्रैल 2017

Wifi and its History

Leave a Comment

Wifi-and-its-History
नमस्कार दोस्तो। आप सब  कम्प्यूटर, लैपटाप, स्मार्टफोन में इन्टरनेट का प्रयोग जरुर करते होगें।  और कभी कभी  मोबाईल के इन्टरनेट को अपनें कम्प्यूटर या लैपटाप पर जरुर शेयर करते होंगे। कभी यूएसबी टेथररिंग से तो कभी वाई फाई टेथरिंग से। और यदि आप बडे शहर में रहते होगें तो वहा  वाई-फाई की सुविधा प्राइवेट कम्पनीया देती है। जिनका प्लान लेकर आप  डायरेक्ट
इन्टरनेट का इस्तेमाल करते होगे।  यदि आप अपने घर में wifi लगवाना चाहते है तो एक wifi राउटर और किसी भी कम्पनी का इन्टरनेट खरीद ले और इन्टरनेट को राउटर से कनेक्ट कर दे |  हम बतायेगें की यह वाई फाई आखिर है क्या? और इसका इसका इतिहास क्या है। तो चलिए शुरू करते है|

वाई फाई क्या है? What is Wi-fi

यह आईईईई 802.11 सिस्टम के रेडियों तरंग पर कार्य करता है। इसके द्वारा किसी निर्धारित विशेष क्षेत्र में इन्टरनेट को बिना किसी तार के या वायरलेस तरीके से एक एक्सेस प्वाइंट के द्वारा कम्प्यूटर, लैपटाप या स्मार्टफोन या किसी अन्य डिवाईस में आवंटित किया जा सकता है।
इसका पूरा नाम वायरलेस फेडिलिटी है। इसका आविष्कार जाॅन डीन और जाॅन ओ सुलिवन ने मिलकर 1991 में किया। असल में यह एक वायरलेस नेटवर्क सिस्टम है जो 802.11 पर कार्य करता है। इसकी सहायता से हम बडी ही आसानी से अपने कम्प्यूटर, लैपटाप, स्मार्टफोन आदि में इन्टरनेट का प्रयोग कर सकते है।

 वाई-फाई कार्य कैसे करता है?

 असल में वाई फाई आईईईई के 802.11 स्टैण्डर्ड पर बेस्ड है। जिसके रेडियो फिक्वेंसी की आवृति 2.4 गीगाहर्टज से 5 गीगाहर्टज तक होती है। इस वायरलेस में डिवाइसो को कनेक्अ करने के लिये एक एक्सेस प्वांइट की जरुरत होती है। जिसे हम हाटस्पाॅट कहते है। जिससे द्वारा सभी डिवाईसे इन्टरनेट से जुड जाती है।
मोबाइल फोन की तरह, नेटवर्क में सूचनाओं के आदान-प्रदान करने के लिए वाई-फाई नेटवर्क रेडियो तरंगों का इस्तेमाल करता है. वाई-फाई लगाने के लिए सबसे पहला कदम है कंप्यूटर में वायरलेस एडॉप्टर लगाना जो डाटा को रेडियो सिग्नल के रूप में एसेप्ट करेगा. जो राउटर के नाम से जाना वाला डिकोडर से भेजा जाएगा. चूंकि वायरलेस नेटवर्क टू-वे ट्रैफिक जैसा काम करता है इसलिए इंटरनेट से जो डाटा रिसीव होगा वो राउटर से भी गुजरेगा और रेडियो सिग्नल में कोडेड हो जाएगा. फिर इस रेडियो सिग्नल को कंप्यूटर का वायरलेस एडॉप्टर रिसीव कर लेगा.

What is HotSpot ?

हॉटस्पॉट शब्द का इस्तेमाल उस एरिया को परिभाषित करने के लिए किया जाता है जहां वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध हो.। घर या रेस्तरां और हवाईअड्डे जैसे सार्वजनिक जगहों पर बंद वायरलेस नेटवर्क होता है. जैसा कि हमने पहले भी कहा है, हॉटस्पॉट की सुविधा पाने के लिए आपके कंप्यूटर में वायरलेस एडाप्टर होना चाहिए. यदि आप नए और आधुनिक लैपटॉप मॉडल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो संभवतः इसके भीतर पहले से ही वायरलेस ट्रांसमीटर सुविधा अंतर्निहित होती है. यदि ऐसा नहीं है तो आपको एक वायरलेस एडॉप्टर खरीदना होगा जिसे आप यूएसबी पोर्ट में लगा सकते है।. एक बार लग जाने के बाद आपका सिस्टम अपने आप वाई-फाई हॉटस्पॉट को खोज लेगा और कनेक्शन के लिए रिक्वेस्ट करेगा।.

वाई फाई के लाभ

  • हमेशा इन्टरनेट से जुडे रहकर आप इन्टरनेट का फायदा उठा सकते है।
  • अपने घर से दूर रहकर भी इन्टरनेट जुडे रह सकते है।
  • अगर आप अपने घर में वाई-फाई एक्सेस प्वांइट या हाटस्पाट बना लेते है तो एक ही इन्टरनेट खर्च में आपके घर के सभी सदस्य अपने-अपने डिवाईस में इन्टरनेट का इस्तेमाल कर सकते है।

  • एक्सेस

यह एक वायरलेस सिस्टम है जिससे आप बिना तार के ही इन्टरनेट का इस्तेमाल तेज गति से जहाॅ भी चाहे कर सकते है। क्योकि इसमें तार नही होता है। बस वहाॅ वाई-फाई का सिग्नल होना चाहिये।

  • मोबिलिटी

यह एक वायरलेस सिस्टम है जिसके कारण आप जहाॅ इसका हाटस्पाट हो वहाॅ पर इसे बडी ही आसानी से इस्तेमाल कर सकते है। जैसे काफी शाप, पार्क , रेलवे स्टेशन आदि जगहो पर वायर से इनटरनेट चलाना आसान नही है।

  • वितरण

वायर न होने के कारण इसका वितरण काफी ही आसान है। इसीलिये इसकी पहुच दिन प्रतिदिन बढती जा रही है।

  • कीमत

इसको लगाने के लिये तार की आवश्यकता नही होती है। सिर्फ जरुरत होती है, एक वायरलेस राउटर और किसी इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर की। जिससे कम कीमत में ही इसका सेटअप किसी होम या आफिस के लिये किया जा सकता है।
इन्हें भी पढ़े 
तो दोस्तो मेरा यह पोस्ट कैसा लगा हमें जरुर बताईयेगा। आशा है जरुर पसंद आया होगा | आप हमारे ब्लाग को फ्री में सब्सक्राइब करें, और पाये विभिन्न लेटेस्ट अपडेट। पोस्ट अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करे, आज के लिए  सिर्फ इतना ही ।
धन्यवाद


If You Enjoyed This, Take 5 Seconds To Share It

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें