शनिवार, 20 मई 2017

Domain Name kya hota hai aur kaise kaam karta hai?

2 comments

Domain-Name-kya-hota-hai
हम सभी लोग domain name को तो जानते  ही होंगे, लेकिन क्या आप ने कभी सोचा है की बिना इसके किसी website को कैसे ढूढ़ा जा सकता है? आखिर website का और एक domain name का आपस में रिश्ता क्या है? आज मैं आप लोगो को पहले यह बताऊंगा की domain name kya hota hai और बिना इसके किसी website को कैसे ओपन कर सकते है? और इससे किसी website का ip कैसे पता कर सकते है? तो चलिए शुरू करते है|

Domain name kya hota hai?

दरअसल  Domain name एक ऐसा नाम है जिससे हम किसी website को पहचानते है| चुकी सभी website का नाम तीन-तीन अंको के 4 set जैसे 255.255.255.255 में होते है| जिनको सामान्यत: याद नहीं रखा जा सकता है| जब इन्ही ip को याद रखने योग्य कैरक्टर में बदल देते है तो उसे  ही हम domain name कहते है| उदहारण के लिए हम सभी google.com को जानते है| और इसको काफी ज्यादा यूज़ भी करते है| लेकिन इसका ip 216.58.199.174 है| यदि किसी भी ब्राउज़र के एड्रेस बार में हम इस अंक को टाइप करे तो google.com के पेज पर पहुच जायेंगे|लेकिन इस ip को हम हमेशा याद नहीं रख सकते है जबकि google.com हम लोगो के जुबान पर रहता है| जो शायद ही किसी को भूले|

Type of Domain name

मुख्यत: यह  2 प्रकार के होते है|
TLD (Top level domain)
CcTLD (Country code Top level Domain )
TLD (Top level domain)- इसका पूरा नाम Top level domain होता है| यह किसी भी website के नाम के अंत में होता है, और जो dot (.) के बाद आता है| इसके इसी नाम से यह पता लगा लिया जाता है की website किस प्रकार का है|इस की सहायता से google के search पेज में हाई रैंकिंग में कुछ सहायता हो जाती है|
.com (commercial) कॉमर्शियल website  के लिए
.org (organization) किसी organization के website के लिए
.net (network) किसी नेटवर्क website के लिए
.edu (education) किसी    educational website के लिए                                                       .info (information) किसी informational website के लिए
CcTLD (Country code Top level Domain )- इस तरह के domain का इस्तेमाल विशेषत: किसी देश के लिए किया जाता है| यह किसी भी देश के two letter ISO code के आधार पर बनाया जाता है| जैसे India के लिए  .IN, United Kingdom के लिए  .UK का इस्तेमाल किया जाता है|
.us: United States
.in: India
.ch: Switzerland
.cn: China
.ru: Russia
.br: Brazil
SubDomain- यह मैं domain का एक पार्ट होता है| कई hosting कंपनी एक ही TLD या CcTLD पर unlimited subdomain की सुविधा देते है| यह अक्सर फ्री होते है| इनका कोई चार्ज नहीं देना होता है| TLD या CcTLD को कई subdomain में डिवाइड किया जा सकता है|

domain name काम कैसे करता है?

सभी प्रकार के website किसी न किसी server पर host किये गए होते है| और उस website के ip को उसके domain name से जोड़ा गया होता है| जिससे जब भी हम website के नाम या domain name को टाइप करते है तो server हमें उस website के होम पेज पर पंहुचा देता है| और हम लोग  उस website तक पहुच जाते है|

website का ip कैसे पता करे ?

किसी website का ip पता करना हो या किसी website को बिना domain के ओपन करने के लिए सबसे पहले हम अपने computer में DOS ओपन करेंगे उसके बाद हम PING कमांड की सहायता से उस website का ip पता कर लेते है| और एक बार ip पता हो जाते पर हम उस ip की सहायता से भी website को ओपन कर सकते है इसके लिए निम्न स्टेप को फॉलो कीजिये |
Step 1 -  अपने computer में dos को ओपन करे|
Step 2 - अब command prompt या dos में टाइप करे PING website name जैसे c:\> PING www.google.com
Step 3- अब pinging for www.google.com [2016.58.199.174] with 32 byte of data शो करेगा|
Step -4- अब इसमे जो 2016.58.199.174 दिख रहा है वही website का ip है|
Domain-Name-kya-hota-hai-aur-kaise-kaam-karta-hai
Step -5- अब इस ip को अपने ब्राउज़र के address bar में टाइपकरके इंटर key प्रेस कर दीजिये वह website ओपन हो जाएगी|  इसकी सहायता से भी website के domain के  बिना भी उस website को ओपन कर सकते है|
सामान्यता: हम इसका प्रयोग अपने website या blog के लिए करते है जो हमारा एक प्रकार का ऑनलाइन ब्रांड होता है| यदि आप इसे अपने बिज़नस या blog के लिए इस्तेमाल करना चाहते है तो इसे किसी service प्रोवाइडर से  खरीदना पड़ेगा. जैसे godaddy, hostjinni, speedhost इत्यादि सबसे पहले इन website पर जाकर आप उन पर रजिस्टर होंगे उसके बाद domain को purchase करके पेमेंट कर देंगे| 

domain name kaise select kare? कुछ सुझाव

  1. अपने  website या blog के लिए कोई domain name सेलेक्ट करने से पहले निम् लिखित बातो का ध्यान अवश्य देना चाहिए| यदि आप अपने website या blog को एक brand बनाना चाहते है तो|
  2. डोमेन नाम  ऐसा होना चाहिए जो सुनाने और बोलने में ज्यादा आसान होने साथ साथ छोटा भो हो| जिससे विजिटर को आपके website का नाम आसानी से याद रह सके|
  3. किसी अन्य के नाम से मिलता जुलता नाम ना रखे| किसी अन्य website से मैच करता हुआ नाम रख कर आप अपने website को कोई brand नहीं बना सकेंगे| और आपके विजिटर पुरारे website पर चले जायेंगे|website का नाम ऐसा रखे, जो एकदम अलग हो और किसी अन्य का कॉपी किया हुआ ना लगे| इसके साथ ही वह नाम आपके website या blog को डिफाइन भी कराती हो, अर्थात नाम को पढ़ कर ही पता लग जाये की इस website पर किस प्रकार की जानकारी है|
  4. इसमे कभी भी special character, number  या hyphen का प्रयोग करने से बचना चहिये| 
  5. अगर संभव हो तो website के लिए या अपने blog के लिए  .com or .net or .org ही लेना चहिये| 
  6. जहा तक संभव हो छोटा से छोटा name लेने की कोशिश करे| यदि आप अपने website या blog के लिए एक या दो शब्द का name सेलेक्ट करते है तो यह विजिटर और search इंजन के लिए बहुत ही अच्छी बात होती है| 

दोस्तों तो आप अब जान गए होंगे की यह domain name Kya hai ?  यह कैसे काम करता है? और   इसका प्रयोग क्यों किया जाता है| कैसे किसी website का ip ज्ञात कर सकते है? ये सारी बात आपको मैंने इस पोस्ट में डिटेल में दिया है| यदि इसके बाद भी कोई प्रॉब्लम या doubt हो तो आप बेझिझक मुझसे comment box के जरिये पूछ सकते है मुझे बहुत ही खुसी होगी| 
धन्यवाद
If You Enjoyed This, Take 5 Seconds To Share It

2 टिप्‍पणियां: