मंगलवार, 2 मई 2017

Fingerprint scanner kaise kaam karta hai full detail in hindi

Leave a Comment

Fingerprint-scanner-kaise-kaam-karta-hai-full-detail-in-hindi
आज कल जितने भी android मोबाइल आ रहे है उनमे fingerprint scanner या sensor का होना आम बात हो गयी है | तो मित्रो आज हम इसी fingerprint scanner के विषय में यह जानेंगे की यह कैसे काम करता है|  क्योकि इसकी वजह से हमारे मोबाइल की सिक्यूरिटी काफी बढ़ जाती है| यदि हम अपने मोबाइल में fingerprint scanner लगा है तो उसके सहायता से यदि हम फ़ोन को lock कर दे तो दूसरा कोई उसे खोल नहीं पायेगा| क्योकि यह उस ब्यक्ति के अंगुलियों के निशान को नहीं मैच कर पायेगा|  इसीलिए मोबाइल में fingerprint scanner hone से फ़ोन की सुरक्षा काफी बढ़ जाती है|


Fingerprint scanner working method

fingerprint scanner पर जब हम पहली बार अपना अंगुली रखते है|  तो वह हमारी अंगुलियों के ऊपर पाए जाने वाले लाइन्स की फोटो ले लेता है, और उसे सेव कर लेता है| जब हम मोबाइल को ओपन करने या अन्य किसी काम के लिए यह दुबारा हमारे अंगुलियों के निशानों के फोटो लेकर पहले से store फोटो से मालन करता है| यदि फोटो मैच कर जाती है तो सही है नहीं तो access denied का मेसेज आ जाता है| और 

Type of Fingerprint scanner

यह  3 प्रकार के होते है|

  1. Optical Fingerprint Scanner
  2. Capacitive Fingerprint Scanner
  3. Ultrasonic Fingerprint Scanner

1- Optical Fingerprint scanner

यह scanner मुख्यत led light और Camera के द्वारा अंगूलियो की इमेज को एनक्रिप्ट करके एक कोड के रूप में रख लेता है और जब दुबारा  हम इस पर किसी काम के लिए या मोबाइल को अनलॉक करने के लिए अपनी अंगूलियो को स्कैन करते है तो यह पुन: अंगूलियो की इमेज लेकर उन्हें कोड में एनक्रिप्ट करके आपस में तुलना करता है |
या इस टाइप के scanner में अंगूली की फोटो ले ली जाती है|  और जब भी हम अपने मोबाइल को अनलॉक करने के लिए दुबारा अंगूली लगते है|  तो यह हमारे अंगूलियो के राइड्स, मार्क्स, और अंगूलियो पर पाई जाने वाली लाइन्स को campare कराती है और मैच करने पर ही accessकरने देती है|

2- Capacitive Fingerprint Scanner

इस प्रकार के scanner में अंगूलियो की जानकारी को सेव करने के लिए conductive  प्लेट और कैपासिटर का उपयोग किया जाता है| इसमे fingerprint की इमेज जैसे अंगुली के उभरे हुए हिस्से और खाली स्थान को अलग -अलग  इलेक्ट्रॉनिक चार्ज के रूप में  कैपासिटर में रखा जाता है, और जरुरत पड़ने पर इसी तरह से स्कैन करके उनक comparing किया जाता है|  वेरीफाई हो जाने पर access दे दिया जाता है| इससे मोबाइल फ़ोन की सिक्यूरिटी काफी बढ़ जाती है| लेकिन यह काफी महँगी होती है|

3- Ultrasonic Fingerprint Scanner

इस प्रकार के scanner में अल्ट्रासोनिक ट्रांसमीटर और रिसीवर लगा होता है\ जा हम इस पर अपनी अंगूलियो को रखता है तो यह scanner कुछ पल्स को सेंड करता है इन पल्स में से कुछ पल्स ही हमारे अंगूलियो से टकराने के बाद वापस जाती है| इन प्राप्त प्लस के आधार पर यह एक 3d इमेज तैयार करता है और उसे एनक्रिप्ट करके उसे अपने डेटाबेस में सेव कर लेता है| और बाद जरुरत पड़ने पर store database से वेरीफाई करता है | चुकी यह अबतक का सबसे नयी technology है जो qualcomm कंपनी के द्वारा बने गयी है | जिसका प्रयोग le max pro में सबसे पहले इस्तेमाल किया गया है | 

Some Myth about Fingerprint Scanner

फिंगरप्रिंट स्कैनर को बाईपास किया जा सकता है| जो पुराने फिंगरप्रिंट स्कैनर होते थे उनको कुछ हद तक बाईपास किया जा सकता था| या यह कहे की उन्हें कभी-कभी bypass किया जा सकता था लेकिन अब जो नए फिंगरप्रिंट स्कैनर आ रहे है वे सिक्यूरिटी की दृष्टि से काफी अच्छे है जिनको बाईपास करना नामुमकिन है| 
फिंगरप्रिंट स्कैनर बाईपास होता है लेकिन सिर्फ हॉलीवुड और बॉलीवुड के फिल्म में| इसलिए किसी प्रकार के धोके में न रहे, और इसको bypass करने में अपना समय न गवाएं| उस समय को कही और लगाये जो आपके लिए कुछ उपयोगी हो| 

Conclusion

तो मित्रो आज हमने आपको बताया की fingerprint scanner क्या है और यह कैसे काम करता है| यदि हम mobile banking का इस्तेमाल करते है तो यह हमारे लिए बहुत ही जरुरी है|  क्योकि इससे हमारे फ़ोन की सिक्यूरिटी काफी इनक्रीस हो जाती है| 
यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया तो इसे जरुर शेयर करे, हमारे ब्लॉग को subscribe करे, और प्रतिदिन हमारे ब्लॉग पर आते रहे और नए -नए जानकारी लेते रहे|
धन्यवाद
If You Enjoyed This, Take 5 Seconds To Share It

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें