शुक्रवार, 7 जुलाई 2017

HEIF kya hai? High efficiency Images File Format (Hindi)

Leave a Comment

HEIF-kya-hai
दोस्तों आप जानते है HEIF kya hota hai? High efficiency Images Format (Hindi) आज मैं आप लोगो को इमेज के नए फॉर्मेट के बारे में बताएँगे जिससे आप अपनी इमेज फाइल को बहुत कम साइज़ में हाई क्वालिटी की इमेज को स्टोर कर सकते है.
लेकिन यह केवल अभी iPhone यूजर के लिए ही है जो iOS 11 में आ रहा है.  और सबसे ज्यादा परेशानी भी iPhone यूजर को ही होती है क्योकि उसमे मेमोरी कार्ड लगता नहीं है. और एक समय के बाद स्टोरेज फुल होने लगती है तो यूजर यह सोचने लगता है की कौन से इमेज को रखे और किस को डिलीट करे.
इसी लिए apple ने अपने यूजर के लिए HEIF को लाया है. जिससे इसके यूजर कम स्टोरेज space में ही ज्यादा और हाई क्वालिटी की इमेज को स्टोर कर सके.

JPEG vs HEIF (Hindi)

JPEG क्या होता है?

यदि बात किया जाय इमेज की तो आज की इमेज  स्टैण्डर्ड JPEG है. इसका पूरा नाम Joint Photographic Experts Group  है. इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इसे  Digital compression and coding of continuous-tone still images के नाम से भी जाना जाता है. JPEG सन 1992 में पहली बार इमेज कम्प्रेशन के लिए इस्तेमाल किया गया.
सभी कैमरा, मोबाइल इसी फॉर्मेट में इमेज को स्टोर करते है या इमेज को क्लिक करते है और हम सब इसी फॉर्मेट में इमेज को शेयर भी करते है. . वैसे तो इमेज GIF, PNG, TIFF आदि फॉर्मेट में भी स्टोर किया जाता है लेकिन इंडस्ट्रीज स्टैण्डर्ड JPEG ही है.

HEIF kya hota hai?

अगर बात की जय विडियो की तो यहाँ पर इनके कम्प्रेशन के लिए बहुत से फॉर्मेट मिलते है जैसे H.264 or H.265 यह सभी विडियो कम्प्रेशन के algorithm  है. यहाँ पर H.264 HEVC है High efficiency video compression है.
इसी का फॉर्मेट जो इमेज के लिए है वो है HEIF यानि High Efficiency Images File Format है. और apple iOS 11 में इसी को काम में लेने वाला है. जिसके चलते इमेज JPEG के मुकाबले  HEIF में 50% ही स्टोरेज स्पेस को लेंगे.
चुकी इसे apple सबसे पहले अपने iPHONE के माध्यम से ला रहा है लेकिन इसने इसे डेवेलोप नहीं किया है. इसको एमपैक ने डेवेलोप किया है. apple सिर्फ इसे अपने डिवाइस में यूज़ कर रहा है.
जहा तक बात इमेज क्वालिटी की है तो यह या तो JPEG के बराबर होगी या कुछ मामलों में इससे बेहतर भी हो सकती है.

JPEG और HEIF में अंतर

  1. HEIF सिर्फ सिंगल  इमेज के लिए ही नहीं बना है यह लाइव इमेज जिसमे कई फ्रेम भी होते है यह उनके लिए भी है.
  2. JPEG ट्रांसपेरेंसी को सपोर्ट नहीं करता है. और यदि ट्रांसपेरेंट चाहिए तो हमें यूज़ करना पड़ता है png, लेकिन HEIF ट्रांसपेरेंसी को भी सपोर्ट करता है.
  3. यदि आप HEIF फाइल को किसी ऐसे सिस्टम में शेयर करना चाहते है जिसमे HEIF सपोर्ट नहीं है तो यह बड़े ही आसानी से JPEG में कन्वर्ट हो जायेगा.  वो भी बिना किसी दिक्कत के.
  4. JPEG 8 Bit कलर को सपोर्ट करता है जबकि HEIF 16 बिट कलर को सपोर्ट करता है.  जो कैमरा हम इस्तेमाल करते है वहा से 10 बिट कलर का इमेज निकालता है. तो HEIF में बिना किसी कलर बिट का नुक्सान किये same फोटो मिल जाएगी.
  5. चुकी apple एक बड़ा खिलाडी है और उसने अपने मोबाइल के लिए इस इमेज कम्प्रेशन algorithm को अपनाया है. तो उम्मीद की जा रही है कि कुछ ही सालो में सभी कम्पनीज इसे अपना लेंगी और HEIF इमेज कम्प्रेशन का अगला इंडस्ट्रीज स्टैण्डर्ड बन जायेगा.

Conclusion

HEIF अभी एकदम नया है इसलिए अभी इसे मार्किट में आने में समय है लेकिन यह iOS 11 के साथ  यूजर के लिए apple ने इसे लांच कर दिया है. लेकिन अन्य कम्पनीज के द्वारा अपनाये जाने में अभी कुछ समय है.
मुझे उम्मीद है की आज यह पोस्ट  HEIF kya hota hai? High efficiency Images Format (Hindi) आप लोगो को जरुर पसंद आया होगा और आप अच्छी तरह से समझ गए होंगे की JPEG aur HEIF me kya antar hai? इसे आप अपने मित्रो के साथ facebook, twitter पर जरुर शेयर करे.
If You Enjoyed This, Take 5 Seconds To Share It

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें