गुरुवार, 20 जुलाई 2017

kya Rooting and Jailbreaking illegal hai?

Rooting-and-Jailbreaking
दोस्तों क्या आप सब जानते है की kya Rooting and Jailbreaking illegal hai? आप सभी तो rooting के बारे में तो सुना ही होगा. और एंड्राइड को अक्सर उसके यूजर चाहते है की इसको root कर दे. और iPHONE यूजर यह चाहते है की वह अपने फ़ोन को jailbreaking कर दे. लेकिन क्या आप जानते है की यह लीगल  है या illegal है. Rooting aur Jailbreaking अपने फ़ोन में करना चाहिए या नहीं?

हम सभी अपने computer में जो चाहे कर सकते है. जैसे चाहे कर सकते है. लेकिन हम अपने फ़ोन में ऐसा कुछ नहीं कर सकते है. जहा तक एंड्राइड फ़ोन की बात है तो इसमे बहुत से app है जिनका यूज़ करके अपने कुछ कामो को कर सकते है लेकिन जब बात iphone की आती है तो इसमे एंड्राइड से ज्यादा दिक्कत होती है.

Rooting aur Jailbreaking Kya hai?



Rooting क्या होता है?

जहा तक इन फ़ोन के हार्डवेयर की बात है वो तो कमाल का होता है. लेकिन software की ऐसी बंदिशे जो हमें पसंद नहीं होती है वो इनके साथ ही फ़ोन कंपनी हमें देती है. चुकी हमें computer के तरह फोन की operating system हमें हर जगह जाने की परमिशन नहीं देती है. की हम वहा जा कर इसमे कुछ भी कर पाए.
फ़ोन में हम एक नार्मल यूजर की तरह इसमे दिए गए solution के द्वारा ही अपने कार्य को कर सकते है. इसमे बहुत ज्यादा कण्ट्रोल हमारे पास नहीं होता है. चुकी कोई भी software पूरी तरह से complite नहीं होता है उसमे कुछ न कुछ bug जरुर होते है या फ्लाग होते है और यदि आप उन्ही फ्लाग के  द्वारा इन software को क्रैक करने की कोशिश करे की इसकी सारी कण्ट्रोल  अपने पास लेने की तो इसे ही हम rooting कहते है.

Jailbreaking क्या होता है?

जिस प्रकार एंड्राइड में उसके bug या फ्लाग का फायदा उठाकर उसके सारे कण्ट्रोल को आप अपने हाथ में ले ते है. ठीक उसी प्रकार iOS के bug का फायदा उठाकर यदि आप उसके सारे कण्ट्रोल अपने हात में ले लेते है तो यह jailbreaking कहलाता है.

क्या rooting या jailbracking illigal है?

वैसे तो देखा जाये तो rooting या jailbreaking illigal नहीं है. लेकिन यदि आप अपने फ़ोन को root कर देते है तो फ़ोन कंपनी आपके वारंटी को समाप्त कर देती है. क्योकि फ़ोन कंपनी यह मानती है की आप ने अपने मोबाइल के operating में जो मॉडिफाई किया है उसकी वजह से कोई भी गड़बड़ी फ़ोन में हो सकती है. तो इसकी हमारी कोई गारंटी या वारंटी नहीं होगी.

kya rooting ya jailbreaking karna asaan hai?

rooting या jailbreaking करना आसन है या मुश्किल तो यह पूरी तरह से आप के device पर निर्भर करता है की आपका device कौन सा है.
बहुत से ऐसे पोपुलर device है जिनके लिए one click rooting software मिल जाते है. लेकिन कुछ device को root करने के लिए software जल्दी नहीं मिल पाते है.
जो device मर्केत्मे अभी अभी आये है या आप किसी device को latest updates किये है तो उनको root करना इजी नहीं होता है. क्योकि उसके developer बग्स को हटा दिए रहते है.
तो उस नए operating में फिर से नए बग्स को खोजना होता है की कहा से आप उसमे घुस पाएंगे और किस प्रकार से आप उसमे घुस के उसके सारे कण्ट्रोल को ले पाएंगे.
rooting के बाद कुछ ऐसे software है जिनको इस्तेमाल करने पर वे आपके फ़ोन को हानि पंहुचा सकते है. इसीलिए अगर आप अपने फ़ोन को root कर दिए है तो ऐसे software को बड़ी ही सावधानी से अपने फ़ोन में यूज़ करना चाहिए.

क्या हमें अपने फ़ोन को root या jailbreak करना चाहिए. 

यदि आप अपने फ़ोन में हमेशा नए नए custome rom डालना चाहते है, या एक आप अपने फ़ोन के CPU को ओवर clock करना चाहते है तो आपको rooting या jailbreak करना चाहिए. लेकिन यदि आप एक नार्मल यूजर की तरह से ही फ़ोन का इस्तेमाल करते है या करना चाहते है तो आपको rooting या jailbreak करने की कोई जरुरत नहीं है.
पुराने फ़ोन में जो सुविधाए root करने के बाद मिलती थी वो अब नए फ़ोन में बिना root के ही मिल रही है. इसीलिए मेरे हिसाब से यदि आप को फ़ोन सिर्फ नार्मल यूज़ करना है तो आपको इसे root करने की कोई जरुरत नहीं है.

Conclusion

rooting या jailbreaking इंडिया में तो illegal नहीं है. लेकिन rooting तभी करे जब आप यह जानते हो की आप क्या कर रहे है. नहीं तो आपको फायदा की जगह नुक्सान भी हो सकता है.
मुझे उम्मीद है की आज का यह पोस्ट kya Rooting and Jailbreaking illegal hai? आप लोगो को जरुर पसंद आया होगा. तो आप इसे अपने मित्रो के साथ जरुर शेयर करे. 

1 टिप्पणी:

  1. I don’t know how should I give you thanks! I am totally stunned by your article. You saved my time. Thanks a million for sharing this article.

    उत्तर देंहटाएं