गुरुवार, 13 जुलाई 2017

TF aur CF kya hai? Trust Flow and Citation Flow in Hindi

Leave a Comment

TF-aur-CF-kya-hai
दोस्तों  क्या आप जानते है की  TF aur CF kya hai? Trust Flow and Citation Flow kya hota hai.  यदि आप एक ब्लॉगर है, तो आप अपने ब्लॉग के लिए जरुर backlink बनाते होंगे.  लेकिन क्या आप जानते है की यह backlinks यदि high quality का न हो तो यह आपके blog को पोपुलर होने से पहले ही बर्बाद कर देगा. और यदि आप backlinks नहीं बनाते है तो यह आपका ब्लॉग कम समय में लोकप्रिय नहीं हो सकता है.
सिर्फ इतना ही नहीं यदि आप का ब्लॉग का high quality backlinks नहीं है तो वह search engine में भी हाई रैंकिंग नहीं पायेगा. इसीलिए backlink एक बहुत ही जरुरी seo techniques है.  और इसी backlinks का एक हिस्सा TF और CF है.

Blog ka TF and CF ratio kya hona chahiye?

Trust Flow क्या होता है?

जब भी आप अपने ब्लॉग के लिए backlinks बनाये तो आपको trust flow यानि TF  का  ध्यान रखना होगा.
किसी भी blog का TF या trust flow ब्लॉग के backlinks की quality और relevancy को बताता है.  आप trust flow metrics की मदद से यह जान सकते है की आप के द्वारा बनाये गए backlinks high quality के है या low quality के.
यदि आप ने backlinks तो बहुत बनाये लेकिन TF जीरो है तो आपके ब्लॉग का backlinks low quality का है.  और यह आपके search रैंकिंग को प्रभावित कर सकती है.
कभी भी backlinks को high अथॉरिटी website से ही बनाना चाहिए. और ज्यो ज्यो ब्लॉग का TF हाई होता जायेगा आपका ब्लॉग SERP में उतनी ही हाई रैंकिंग प्राप्त करेगा.

Citation Flow क्या होता है?

citation flow यानि CF आपको यह बताता है की आपके blog पर कितना links को पॉइंट किया गया है. यह केवल वेब पेज पर पॉइंट किये गए links और root domain की सख्या बताता है.
यदि आपके ब्लॉग का TF काफी कम है और CF बहुत ही ज्यादा है तो हो सकता है की भविष्य में आपको google पेनाल्टी का सामना करना पड़े. क्योकि google algorithm के हिसाब से TF और CF का ratio 1 : 2 से ज्यादा नहीं होना चाहिए.
अर्थात यदि आपके ब्लॉग का TF 15 है और CF 80 है तो आप यह जान लीजिये की आपके ब्लॉग पर नेगेटिव SEO इफ़ेक्ट है.


ब्लॉग का  TRUST FLOW और CITATION FLOW  की  कैसे जाँच करें ?

ब्लॉग का TF और CF की जाँच करने के लिए सबसे बेहतरीन टूल majestic site explorer है. इसके द्वारा आप बहुत ही आसानी से TF और CF की जाँच कर सकते है.  इस website के द्वारा आप अपने ब्लॉग का trust flow, citation flow, external backlinks, reffering domains, reffering IPs, Referring Subnets की जानकारी पा सकते है.

Website का Trust Flow बढाने का तरीका

  • जब कोई ब्लॉग्गिंग शुरू करता है तो वह सबसे बड़ी गलती यह करता है की बिना वेबसाइट की अथॉरिटी की जाँच किये ही वह backlinks बना देता है. जिससे उनको नुक्सान उठाना पड़ जाता है.
  • यदि आप high अथॉरिटी वेबसाइट से dofollow links बनाये तो ब्लॉग का TF बढ़ जायेगा.
  • यदि आप पहले ही बहुत ज्यादा मात्रा में  low quality backlinks बना लिए है तो आप पहले उनको रिमूव कीजिये. जैसे आप bad quality backlinks को रिमूव करते है तो आपके blog का trust flow बढ़ सकता है.
  • कभी भी बहुत ज्यादा मात्र में nofollow backlinks नहीं बनाना चाहिए क्योकि इससे रेफ्फेरल ट्रैफिक तो मिलता है लेकिन citation flow भी बढ़ जाता है. जो seo के हिसाब से ब्लॉग के लिए बिलकुल सही नहीं है.
  • आप हमेशा backlinks बनाने के लिए ऐसी website का चुनाव कीजिये जिनकी अथॉरिटी अच्छी हो. चाहे यह backlinks comment के द्वारा बनाये या गेस्ट पोस्ट के द्वारा.
  • कभी भी ऐसे website पर backlink को न  बनाये जो dofollow link प्रोवाइड  न करे.और जिसका DA बेहतर न हो. क्योकि ऐसी website से backlinks लेने पर आपके ब्लॉग का Trust Flow बढ़ने के बजाय Citation Flow  बढ़ जायेगा. जिससे आपके blog को नुकसान हो सकता है.
  • कभी कभी  unwanted वेबसाइट से भी backlinks मिल जाती है. जो आपके blog के niche से रिलेटेड नहीं होती है.  इससे भी blog का tust flow बढ़ने की बजाय citation flow बढ़ जाता है. अगर इस प्रकार के backlinks आपके blog के है तो आप उन्हें जीतनी जल्दी हो सके रिमूव कर दीजिये.
  • यदि किसी वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट लिखते है तो इस बात का ध्यान रखिये की वह website high अथॉरिटी वाली हो. और वह आपको dofollow backlinks प्रोवाइड करे.
किसी भी ब्लॉगर के लिए किसी high authority website से dofollow backlinks पाना मुस्किल हो सकता है. लेकिन नामुमकिन नहीं. यह एक चैलेंज की तरह है जिसे कोशिश करके ही पाया जा सकता है.
यदि कोई ब्लॉगर अपने blog के लिए high trust flow या high authority वाली website से 2 या 3 backlinks बना ले तो वह एक समय brand बन कर सबके सामने आ जायेगा.

Conclusion

यदि आप backlinks बनाते है तो उसका प्रभाव लगभग एक महीने के बाद ही दिखाई देता है.  लेकिन किसी भी ब्लॉग का trust flow और citation flow हर रोज बदलता रहता है.  यदि आप trust flow और citaion flow पर कण्ट्रोल कर लिए तो आप का blog बहुत जल्द ही फेमस हो जायेगा.
मुझे उम्मीद है की आज का रह आर्टिकल TF aur CF kya hai? Trust Flow and Citation Flow आप लोगो को जरुर पसंद आया होगा और इसे आप अपने मित्रो के साथ facebook, twitter पर जरुर शेयर करे. 
If You Enjoyed This, Take 5 Seconds To Share It

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें