सोमवार, 2 अक्तूबर 2017

Blogger द्वारा Blogging को छोड़ने के कारण

Blogger-द्वारा-Blogging-को-छोड़ने-के-कारण
आज के समय में ब्लॉग्गिंग का क्रेज गाँव गाँव तक पहुच गया है, और लोग यह सोचते है की हम blogging के द्वारा कम समय में दौलत और शोहरत कमा सकते है. और इसी सोच के साथ प्रतिदिन लगभग हजारों लोग blogging शुरू करते है. लेकिन जैसे जैसे समय बीतता है वैसे वैसे उनका इंटरेस्ट blogging में कम होने लगता है और लगभग 6 महीने बाद वे लोग blogging छोड़ देते है.

आखिर इन 6 महीनो में ऐसा क्या हो जाता है की लोग blogging जिसे बहुत जोर शोर से शुरू किये होते है, उसे छोड़ देते है. असल में blogging को छोड़ने वाले वही लोग होते है जो यह सोचते है की मैंने मेहनत तो किया लेकिन मुझे कोई फायदा नहीं हुआ. अब यहा फायदा का क्या मतलब है. यह अलग- अलग लोगो के लिए अलग-अलग हो सकता है.
जैसे कोई यह सोचता है की 6 महीने हो गए और मेरा अभी तक adsense का approval नहीं मिला. कोई यह सोचता है की मैंने बढ़िया कंटेंट लिखे. सोशल मीडिया पर शेयर भी किया लेकिन ट्रैफिक नहीं मिली आदि चलिए आज हम आप लोगो को बताएँगे की blogging छोड़ने वाले लोग कहा कहा गलती करते है.
लेकिन जितने भी blogger ने blogging को छोड़ दिए वे सिर्फ दो ही कारण से इसे छोड़ते होंगे.
पहला कारण है की ट्रैफिक का न आना और दूसरा कारण है earning का न होना.
अब ट्रैफिक क्यों नहीं आ रही है इसके कारण मैंने निचे बताये है. यदि ट्रैफिक नहीं आएगी तो ब्लॉग से कमाई भी नहीं होगी, यह बात तो जानते ही है.

Blogger द्वारा Blogging को छोड़ने के कारण

Article कैसे लिखे इसकी जानकारी का न होना.

बहुत से लोग blogging तो शुरू कर देते है लेकिन उन्हें आर्टिकल लिखने नहीं आता है उन्हें यह पता ही नहीं होता है की आर्टिकल की शुरुवात कैसे करे और उसका अंत कैसे करें.और उसे रीडर के लिए किस प्रकार से लिखे.

यदि आप आर्टिकल लिखते है तो  उसमे सभी टॉपिक को अच्छी तरह से बताया गया हो. जिससे रीडर उसे पढ़ कर उस टॉपिक को अच्छे से समझ सके. यदि आप ऐसा नहीं कर पा रहे है तो रीडर ऐसे आर्टिकल को पसंद नहीं करेंगे और आपके ब्लॉग से वापस चले जायेंगे, जिससे आप का ब्लॉग सफल नहीं हो पायेगा, और जब विजिटर नहीं होंगे
 तो आप निराश होकर blogging को छोड़ देते है.  इसीलिए मेरा मानना है की आप अपने यूजर को ध्यान में रख कर आर्टिकल को लिखे. सर्च इंजन को ध्यान में रख कर आर्टिकल लिख तो सकते है लेकिन सफल नहीं हो सकते है.

  • Tips- जिस प्रकार से एक अच्छा श्रोता ही एक अच्छा वक्ता बनता है ठीक उसी प्रकार से एक रीडर ही एक बढ़िया राइटर बन सकत है. इसीलिए कुछ समय पढ़ने में भी बिताये.
  • article को लिखते समय आप H1, H2, H3, H4 टैग का इस्तेमाल सही ढंग से करें. और यदि आप टुटोरिअल लिख रहे है तो आप प्रत्येक पॉइंट को step1, step2,.....step 9 करके लिखे.
  • यदि आप खुद लिखने में सक्षम नहीं है तो आप यह काम किसी फ्रीलांस राइटर से भी करा सकते है. 

Article का सर्च इंजन में न आना 

यदि आपका आर्टिकल सर्च इंजन में नहीं आ रहा है तो आप अपने प्रत्येक आर्टिकल का SEO सही करे. क्योकि बिना seo के आपका आर्टिकल सर्च इंजन में बहुत ज्यादा समय के बाद ही आ पायेगा. SEO दो प्रकार से किया जाता है. 

1- On Page SEO की जानकारी न होना.

आप को अपने हर आर्टिकल का on page SEO करना होगा ताकि आप का आर्टिकल सर्च इंजन में हाई रैंक प्राप्त कर सके और उस पर आर्गेनिक ट्रैफिक आ सके. जैसे आप अपने हर आर्टिकल में जो आपका कीवर्ड है उसकी डेंसिटी 0.7 से 2.0 तक ही रखे, यदि इससे कम रखते है तो उस कीवर्ड से आपका आर्टिकल सर्च इंजन में रैंक नहीं कर पायेगा. और यदि आप कीवर्ड की डेंसिटी  2.0 से ज्यादा रखते है तो सर्च इंजन इसे स्पैम की श्रेणी में रख कर आपके आर्टिकल को penalized कर देगा. जिससे आपका आपका आर्टिकल सर्च इंजन रिजल्ट पेज में शो ही नहीं होगा.
और जब आपका आर्टिकल सर्च इंजन में शो नहीं होगा तो आपके ब्लॉग पर आर्गेनिक ट्रैफिक नहीं आयेगी.  यदि आप ऐसा नहीं करते है तो आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक तो आएगी लेकिन उसमे बहुत ही ज्यादा समय लग जायेगा. तब तक शायद आप इन्तजार न कर पाए.
Tips
 आर्टिकल को लिखते समय keywords की डेंसिटी 0.5 से 2.0 तक ही रखे.
अपने आर्टिकल को सर्च इंजन में डालने के लिए google webmaster tools का इस्तेमाल करें.

2- Off Page SEO की जानकारी का न होना

high traffic पाने के लिए आपको अपने ब्लॉग का ऑफ पेज SEO भी करना होता है. ऑफ पेज SEO में आप किसी दुसरे ब्लॉग पर कमेंट करें. या गेस्ट पोस्ट लिखे, और वहा से आप dofollow backlinks पा सकते है.  और उस ब्लॉग के यूजर कम से कम एक बार तो आपके ब्लॉग पर विजिट जरुर करेंगे. और यदि आपका कंटेंट बढ़िया है तो वे आपके ब्लॉग हमेशा विजिट करेंगे.
दुसरे ब्लॉग पर कमेंट से अन्य ब्लॉगर से परिचय होता है. और उनसे भी जानकारी मिलती है. जिसे अपना कर आप अपने ब्लॉग को और बेहतर बना सकते है.
Tips-
अपने ब्लॉग के टॉपिक से सम्बंधित अन्य ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट लिखे.
ब्लॉग पर कमेंट करें.
फोरम ज्वाइन करें और उसमे लोगो की समस्या को कल करें.

Social media पर ज्यादा समय बिताना.

नए ब्लॉगर यह सोचते है की जितना ज्यादा समय सोशल मीडिया पर बिताएंगे उनके ब्लॉग के लिए उतना ही बढ़िया है. लेकिन वह यह नहीं जानते की यह मात्र समय की बर्बादी है. बहुत से ब्लॉगर यह सोचते है की सोशल मीडिया मार्केटिंग का मतलब यह है की अपने ब्लॉग पोस्ट को facebook, twitter, आयर अन्य सोशल मीडिया पर शेयर हर देना ही होता है. लेकिन जब ट्रैफिक नहीं आती है तो वे निराश हो जाते है, और सोचते है की इतने प्रमोशन के बाद भी ट्रैफिक नहीं बड़ी.
वास्तव में सिर्फ सोशल मीडिया में अपने पोस्ट को शेयर कर देने से ब्लॉग पर विजिटर नहीं बढ़ते है. ट्रैफिक को बढ़ने के लिए आपको सोशल मीडिया पर उन पब्लिक ग्रुप को ज्वाइन करना होगा जो आपके ब्लॉग के टॉपिक से सम्बंधित हो और उन्ही ग्रुप में आप अपने ब्लॉग के आर्टिकल को शेयर करते है तो वहा से आपको ट्रैफिक जरुर मिल सकती है.
हर जगह आर्टिकल को शेयर करने से आपके ब्लॉग का इमेज भी ख़राब हो जाता है. लोग इसे स्पैम समझने लगते है.

Adsense ka Approval ना मिलना .

ज्यादातर blogger इसलिए blogging को छोड़ देते है की उनका google adsense का अकाउंट approved नहीं हो पाता है. ब्लॉग से पैसा कमाने के लिए एक मात्र उपाय केवल adsense नहीं है. इसके अलावा भी बहुत से तरीके है जिनको आप अपना कर अपने ब्लॉग से पैसे कमा सकते है. लेकिन अप अपने ब्लॉग से पैसे तभी बना सकते है जब आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक हो. यदि अआपके ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं है तो आप अपना ध्यान पैसा कमाने से हटाकर पहले अपने ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ने में लगाये. जब ट्रैफिक हो जाएगी तब आप अपने ब्लॉग से आप एफिलिएटेड मार्केटिंग, फ्रीलांसिंग, या अन्य ads network का ads इस्तेमाल करके अपने blog से पैसा बना सकते है.
लेकिन यदि आप के ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं है तो आप किसी भी प्रकार से इससे पैसा नहीं कमा सकते है.

Final Word.

मेरा मानना है की ज्यादातर blogger कमाई नहीं होने के वजह से ही blogging को छोड़ देते है. लेकिन वे यह नहीं जानते है की blogging से कमाई आसानी से नहीं होती है. और जल्दी कमाई शुरू भी नहीं होती है. जितने भी सफल blogger है यदि आप उनसे पूछे तो आपको पता लग जायेगा की blogging शुरू करने के एक या दो साल बाद वे लोग मात्र 1 या दो डॉलर ही कमा पाए. लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और वे अपना काम करते रहे. तब जाकर उन्हें यह मुकाम मिला.
इसीलिए आप पैसे का चिंता किये बगैर सिर्फ और सिर्फ अपना ध्यान बढ़िया कंटेंट लिखने में लगाये, जिससे आपको ट्रैफिक मिल सके.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें