रविवार, 1 अक्तूबर 2017

Full Time Job ke sath blogging kaise kare?

manage-blog-with-job
दोस्तों यदि आप कोई full time Job करते है, और आप blogging करने के बारे में सोच रहे है, तो यह पोस्ट आपके लिए काम का हो सकता है. आज मैं इस पोस्ट के माध्यम से आप लोगो को बताने की कोशिश करूँगा की आप सब कैसे अपने full time Job के साथ blogging भी कर सकते है. और यदि आप जॉब के साथ ब्लॉग्गिंग कर रहे है तो मेरी शुभ कामनाये आपके साथ है. तो जानते है की आप अपने जॉब के साथ कैसे ब्लॉग को मैनेज कर सकते है?

Job ke sath Blogging kare ya Job Quit kar ke blogging kare?


यदि आप यह सोच रहे है की जॉब को छोड़ कर blogging ही शुरू कर दिया जाये तो, इस बारे में मेरी राय है की यदि आप आर्थिक रूप से काफी मजबूत है, और अपने घर परिवार की सारी जिम्मेदारी दो तीन साल तक बिना कोई कमाई किये पूरी कर सकते है तो आप जॉब को छोड़ कर blogging कर सकते है.
लेकिन यदि आपकी आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है तो आप को अपने जॉब के साथ ही blogging के पैशन को भी आगे बढ़ाना चाहिए. क्योकि ऐसी स्थिति में जॉब को छोड़ना एक गलत कदम साबित हो सकता है.

Full Time Job ke sath blog manage kaise kare?

यदि आप 9.00 बजे से 5.00 बजे की जॉब करते होंगे तो आप सुबह 7.00 बजे बिस्तर छोड़ते होंगे और ऑफिस के लिए तैयार होना शुरू कर देते होंगे.  और शाम को 7.00 बजे तक घर आते होंगे.  यदि आप अब blogging करना चाहते है तो आपको एक समय निर्धारित करना होगा की आप अपने ब्लॉग के लिए कब समय देंगे. सुबह में या शाम में आप अपने सुविधानुसार इस चीज़ को निर्धारित कर सकते है.
मैं यहाँ पर अपना टाइम schedule दे रहा हूँ जिसके द्वारा मैं अपने ब्लॉग को मैनेज करता हूँ. और अब मैं एक अपना youtube channel शुरू करने की सोच रहा हूँ.

  • Morning 3.00am to 4.00 am - Reading Other's Blog, Article, Online news paper
  • 4.00 am to 5.30 am Writing Article for our Blog, Design image and Publish them on Blog.
  • 5.30 am to 6.30 am - Walking,
  • 6.30am to 7.00 am - Tea
  • and after this time ready for office
  • Evening
  • 6.00pm to 7.00pm - Reading articles on other Blog.
  • 7.00pm to 8.00pm - think about new article matter, and write the point for articles.

मैं इसी schedule से काम करता हूँ, इसी तरह से आप भी यदि जॉब के साथ blogging करना चाहते है तो एक टाइम टेबल बना ले, और उसका सख्ती से पालन करें.

अच्छा राइटर कैसे बने?

  • अब यदि आप मेरे टाइम टेबल को देखेंगे तो आप पाएंगे की मैं सुबह और शाम तो एक एक घंटा रीडिंग के लिए समय देता हूँ. अब अप यह सोचते होंगे की मैं इतना समय पढ़ने में क्यों देता हूँ तो. जिस प्रकार से एक श्रोता ही एक अच्छा वक्ता बन सकता है ठीक उसी प्रकार से एक रीडर की एक बढ़िया राइटर बन सकता है.
  • ब्लॉग्गिंग में राइटिंग ही करना होता है. उन टॉपिक पर जिसे आपने अपने blogging के लिए सेलेक्ट किया है या जिसमे आपका इंटरेस्ट है.
  • रीडिंग से आपको यह पता चलता है की पोस्ट को लिखने की शुरवात कहा से करनी है, और उसका अंत कैसे रें.
  • आप कितना भी बिजी क्यों न हो कम से कम 30 मिनट का समय तो आप रीडिंग पर दे ही सकते है.

Blog kaise manage kare?

  • आप जो समय blog को manage करने के लिए निकले है, उस समय में केवल आप blogging में ही ध्यान दीजिये.
  • शुरू शुरू में एक blog पोस्ट लिखने में तीन घंटे तक का समय लग जाता है. यदि आप इतना समय नहीं दे पा  रहे है तो दो दिन में एक आर्टिकल लिखे.
  • घर लौटने के बाद यदि  Related Post, Related News और New Update पढने का समय नहीं मिलता हो तो Office आने जाने के समय में  इस काम कोनिपटने की कोशिश करें (यदि आप Public Transport में Travel करते हो तो).
  • blogging में धैर्य की बहुत ही जरुरत होती है, यदि आपके पास धैर्य नहीं है तो blogging के बारे में नहीं सोचे. क्योकि blogging लॉन्ग टर्म के बाद ही बढ़िया रिजल्ट देता है.
  • यदि blogging में सफलता चाहिए तो आपको धैर्य के साथ निरंतरता बनाये रखना होना. क्योकि काम में सफलता बिना निरंतरता के नहीं मिल सकती है.

Conclusion

यदि आप इन बातो का ध्यान रखेंगे तो आप अपने full time job के साथ ही blog को भी मैनेज कर लेंगे. और सबसे  बड़ी बात की आप समय के  महत्व को समझे और उसका सम्मान करें. मुझे  उम्मीद है की आज का यह पोस्ट Full Time Job ke sath blogging kaise kare? आप लोगो को जरुर पसंद आया होगा. इसे सोशल मीडिया पर अपने मित्रो के साथ जरुर शेयर करें.

2 टिप्‍पणियां: