गुरुवार, 26 अक्तूबर 2017

Kya Formatting se Disk Khrab Hote Hai? Disk Formatting Myth [Hindi]

disk-formatting-myth
आप सभी लोग कंप्यूटर, मोबाइल, लैपटॉप, या टेबलेट का इस्तेमाल तो करते ही होंगे, और इनमे pen drive, HDD, SSD, या मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल भी करते होंगे. यदि आप इन सब का इस्तेमाल करते होंगे तो आप इन को कभी न कभी इसे format भी  ही किये होंगे. लेकिन इस Disk formatting को लेकर कुछ ऐसे मिथ है, जिन्हें आप सब सही मानते है.
लेकिन वास्तव में वो जब हम किसी disk को format करते है तो क्या वह डाटा पूरी तरह से डिलीट हो जाता है?

Disk Formatting की जरुरत क्यों पड़ती है?

जब भी हमे कुछ हाथ लिखना होता है तो हम एक सादा कागज और एक पेन लेते है. सादा कागज लेते है, न की कोई ऐसा कागज जिस कुछ लिखा हुआ हो और कुछ काटा हुआ हो.
ठीक इसी प्रकार से जब हम किसी कंप्यूटर या लैपटॉप या मोबाइल को कभी इस्तेमाल करते है तो हम यह सोचते है की यह एकदम से क्लीन हो.
कई बार ऐसा होता है की कम जिस कंप्यूटर को यूज़ कर रहे होते है उसमे बहु कुछ डाउनलोड कर लिया, बहुत सी फाइल बना लिया, जिसके कारण हम अक्सर यह भूल जाते है की हमारी कौन  सी फाइल कहा पर है.

उस समय हमें यह लगता है की इस फाइल को खजाने से बेहतर है की हम उसे फिर से डाउनलोड कर ले. या उस डॉक्यूमेंट फाइल को फिर से टाइप ही कर ले यही ज्यादा आसान है.
कभी कभी जब हमारा पेन ड्राइव ठीक ढंग से काम नहीं कर रहा होता है, या हार्ड disk में bad sector बन जाते है तब भी हमें इन्हें format करने की जरुरत होती है. 
यदि आपके कंप्यूटर के अन्दर कोई वायरस या मैलवेयर आ जाते है तब भी हमें कंप्यूटर को format करने की जरुरत पड़ती है.

क्या Formatting से data पूरी तरह से delete हो जाता है?

format में हम सोचते है की जो डाटा है, चाहे वह पेन ड्राइव में हो, हार्ड disk में हो, चाहे वह मेमोरी कार्ड में हो. उसे formatting के द्वारा delete करते है.
लेकिन क्या वास्तव में हम जब format करते है तो वह डाटा delete हो जाती है? मेरा जवाब है नहीं 
दरअसल हम जब किसी स्टोरेज डिवाइस को format करते है तो वह डाटा  delete नहीं नहीं होता है. वह डाटा वही का वही रहता है. 
यहाँ पर हम केवल उस डाटा के इंडेक्सिंग फाइल को ही delete करते है. फाइल मैनेजमेंट की वह सिस्टम जो हमें यह बताती है की कौन सा डाटा कहा पर स्टोर है. हम सिर्फ उन टेबल को ही delete कर पाते है.


वह सारा का सारा डाटा वही का वही रहता है. जब तक की हम उसे overwrite नहीं कर देते है.
इसका मतलब यह है की यदि हम किसी स्टोरेज डिवाइस को format कर दिए है तो उसके सरे डाटा हो बड़ी ही आसानी से किसी भी डाटा रिकवरी सॉफ्टवेयर के द्वारा रिकवर कर सकते है.
यदि आप यह चाहते है की आपके format करने के बाद फिर से डाटा रिकवर न हो पाए तो उसका एक सिंपल सा तरीका यह है की पहले आप उस डाटा हो delete करो. फिर उस पर कोई नै डाटा को write करो उसके बाद फिर उसे format करो. 
इससे आपकी delete की गई डाटा को कोई  रिकवर नहीं कर  पायेगा.
वैसे इस काम के लिए भी बहुत से टूल्स उपलब्ध है. जिनके इस्तेमाल करके आप अपने स्टोरेज डिवाइस के डाटा को इस प्रकार से delete कर देंगे जिससे उस delete किये डाटा को कोई भी रिकवर नहीं कर पायेगा.

बार-बार format करने से disk की लाइफ कम हो जाती है.

disk formatting का दूसरा सबसे बड़ा मिथ यह है की किसी disk चाहे वह कंप्यूटर का हार्ड disk हो, पेन ड्राइव हो, यह मेमोरी कार्ड हो. इनको बार बार format करने से यह खराब हो जाते है.
किसी भी स्टोरेज डिवाइस को बार बार format करने से ख़राब नहीं होता है. बस उसमे के स्टोरेज डाटा delete हो जाते है. 
लेकिन बार बार formatting खुद अपने लिए सही नहीं है. क्योकि यदि कंप्यूटर या मोबाइल में कोई छोटा सा बग आ गया तो उसके लिए यदि हम अपने कंप्यूटर को format कर दे तो-
फिर उसमे ऑपरेटिंग सिस्टम डालना सारे  सॉफ्टवेयर इन्स्टाल करना एक लम्बा प्रोसेस हो जाता है जिसके बाद की ह्यम पाने कंप्यूटर, या मोबाइल का इस्तेमाल पूरी तरह से कर पाएंगे.
लेकिन यदि पहले हम अपने कंप्यूटर में आये बग को सही करने की कोशिश करे  और formatting को लास्ट आप्शन मान कर चले तो हम कंप्यूटर को format करने और सारे सॉफ्टवेयर को इंस्टाल करने के लम्बे प्रोसेस से बच  सकते है.

Conclusion

कंप्यूटर या मोबाइल को format करने से disk या मेमोरी कार्ड खराब नहीं होता है. बल्कि वह पहले से बेहतर और ब्रांड न्यू बन जाता है. लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल  भी नहीं है की आप बार बार इसे format ही करते रहे.
और एक बात हमेश ध्यान रखे की disk formatting से delete डाटा को रिकवर किया जा सकता है.
मुझे उम्मीद है की आज का यह पोस्ट Kya Formatting se Disk Khrab Hote Hai? Disk Formatting Myth [Hindi] आप लोगो को जरुर पसंद आया होगा, इसे आप अपने मित्रो के साठग सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें