शनिवार, 14 अक्तूबर 2017

Top 10 Blogging Myth jise blogger sahi manate hai.

top-blogging-myth
दोस्तों आज मैं आप लोगो के blogging के 10 myth के बारे में बताने वाला हूँ, जिसे अक्सर नए ब्लॉगर सही मानते है और जब वे blogging के वास्तविकता से परिचित होते है तो वे blogging को छोड़ देते है. या दुसरे सब्दो में कहे तो वे blogging से भाग जाते है.
जैसे जैसे देश के जनसँख्या में वृद्धि हो रही है ठीक वैसे ही blogger के जनसँख्या में भी वृद्धि हो रही है.  blogger की संख्या बढ़ रही है यह बहुत अच्छी बात है लेकिन जब ब्लॉगर blogging को छोड़ देते है तो दुःख भी होता है.
  चलिए जानते है की वे 10 myth क्या है, जिसे नए blogger सही मानते है. और जब वैसा नहीं होता है तो ...........

Top 10 Blogging Myth jise blogger sahi manate hai.


Myth #01- blogging से पैसा जल्दी कमाया जा सकता है.

blogging से पैसा कमाया जा सकता है. और कमाया भी जाता है.  लेकिन यदि आप यह सोच रहे है की आप blog शुरू करेंगे और पैसा कमाने लगेंगे तो आप गलत है बिलकुल गलत. जब एक बच्चा पैदा होता है तो वह अपने पैरो पर तुरंत ही नहीं चलने लगता है. उसे अपने पैर पर चलने में महीनो लग जाते है, और आप यह सोच रहे है की blog से आप महीने भर में पैसा कमाने लगेंगे.
यदि ऐसी सोच google के संस्थापक और facebook के संस्थापक की होती तो आज इन्टरनेट की दुनिया में गूगल और facebook नहीं होता.  प्रोडक्ट बनना आसान है लेकिन ब्रांड बनाने में समय लगता है.

Myth #02- social media पर ज्यादा समय एक्टिव रहने से traffic बढ़ेगी.

यदि आप एक ब्लॉगर है और यह सोच रहे है की सोशल मीडिया पर जितना समय बिताऊंगा उतना ज्यादा ट्रैफिक ब्लॉग पर आएगी तो आप बिलकुल भी गलत है. सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने से नहीं बल्कि उस पर ग्रुप ज्वाइन करें, और अपने ब्लॉग का एक पेज बनाये और अपने ब्लॉग पोस्ट को फेसबुक ग्रुप में शेयर करें और अपने फेसबुक पेज पर शेयर करें. और ज्यादा समय ब्लॉग के लिए कंटेंट लिखने में और दुसरे ब्लॉगर के ब्लॉग को पढ़ने में लगाये.

Myth #03- Blog Post 1000 शब्द का होना चाहिए.

ऐसा कोई जरुरी नहीं है की ब्लॉग पोस्ट 1000 शब्द का ही होना चाहिए. 300 वर्ड या 500 वर्ड के भी ब्लॉग पोस्ट सर्च इंजन में रैंक करते है. इन्टरनेट यूजर आपके ब्लॉग पोस्ट को भी जल्दी से जल्दी पढना चाहते है. और यदि आप अपने पोस्ट जबरदस्ती खीच कर लंबा करेंगे तो यह यूजर को कभी भी पसंद नहीं आएगा.

Myth #04- Blogging का मतलब लिखना होता है.

Blogging में आप लिखते जरुर है. लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल भी नहीं की आप सिर्फ लिखिए. blogging का मतलब है की आप कुछ ऐसा लिखे जिससे लोगो को कुछ सीख  मिले. लोग आपके ब्लॉग के कुछ सीखे. आपके अनुभव से कुछ सीखे, कुछ जाने  क्योकि केवल लिखने भर से ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं आती है.

Myth #05- Blogging is a lazy work

यदि आप यह सोचते है की blogging आलस के साथ भी जायेगा तो आप बिलकुल ही गलत है, क्योकि यदि आप bloging आलस के साथ करते है तो आप यह भूल जाइये की आप इस क्षेत्र में कभी सफलता पाएंगे. आप एक सकारत्मक सोच के साथ एक टाइम टेबल बनाकर इसे करें. और अनुशासन से तभी ब्लॉग्गिंग में सफलता मिलेगी.

Myth #06- competitors का ब्लॉग शेयर नहीं करना चाहिए.

यदि कोई भी ब्लॉगर यह सोचता है की उसे अपने competitors का ब्लॉग शेयर नहीं करना चाहिए तो वह बिलकुल भी गलत है क्योकि यदि आप अपने competitors का ब्लॉग शेयर करेंगे तो  इससे आपका यूजर बेस बढेगा क्योकि उससे यूजर की हेल्प होगी. यूजर की नज़र में आपकी क्रेडिबिलिटी बढेगी.

Myth #07- Blogging आप अकेले कर सकते है.

शुरुवात के दिनों में आप खुद ही ब्लॉग पोस्ट लिखते होंगे और उसे सोशल मीडिया पर प्रमोट भी कर देते होंगे, लेकिन जब समय बीतता जायेगा, और आपका यूजर बेस  बढ़ता जायेगा और उसके साथ आपकी इनकम भी बढ़ जाएगी तो एक समय ऐसा आएगा जब एक टीम की जरुरत होगी. और टीम वर्क ही बेस्ट आप्शन है. लेकिन शुरू में आप इसे अकेले कर सकते है,
जितने भी सक्सेस ब्लॉगर है अमित अग्रवाल, या हर्ष अग्रवाल ये लोग अकेले नहीं है, ये लोग पूरे प्रोफेशनल तरीके से एक टीम बनाकर अपने ब्लॉग को मैनेज करते है.

Myth #08- Blogging एक सुरक्षित कमाई का जरिया है.

भारत में सिर्फ सिक्योर जॉब सरकारी नौकरी को ही माना जाता है. बाकी को  अनसिक्योर जॉब की श्रेणी में रखा जाता है. लेकिन blogging तभी सिक्योर है, जब आप उसमे सफल हो जाते है. और इतना कमाई करने लग जाये की उससे आप अपने परिवार को सपोर्ट कर सके.

Myth #09- Google Plus बेकार है.

नए और पुराने सभी ब्लॉगर अपने ब्लॉग पोस्ट को सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करते है. लेकिन कुछ नए ब्लॉगर अपने ब्लॉग पोस्ट को सिर्फ  facebook पर ही शेयर करते है. वे यह सोचते है की google plus बिलकुल ही बेकार है.
जबकि उनकी सोच गलत होती है. आप इस सोशल मीडिया प्लातेफ़ोर्म का इस्तेमाल कीजिये और फर्क देखिये. इस पर ब्लॉग पोस्ट शेयर कीजिये और अपने सर्च रिजल्ट की रैंकिंग में फर्क देखिये.

Myth #10 - दुसरे blogger के blog पर comment नहीं करना चाहिए.

नए ब्लॉगर के लिए यह सबसे बढ़ा myth यही है की किसी दुसरे ब्लॉगर के ब्लॉग पर कमेंट नहीं करना चाहिए. जबकि दुसरे ब्लॉगर के ब्लॉग पर कमेंट करने से अन्य ब्लॉगर के साथ एक संवाद स्थापित होता है. और वहा पर भी आप अन्य लोगो की सहायता कर सकते है और जिससे ट्रैफिक  भी आपके ब्लॉग पर आती है.  कमेंट से ब्लॉग का ट्रैफिक कैसे बढ़ाये  मेरा यह पोस्ट जरुर पढ़े.

Conclusion

यह वे blogging myth है जिसे नए ब्लॉगर अक्सर सही समझते है. और वे अपने ब्लॉग का नुक्सान कर बैठते है. यदि आप नए ब्लॉगर है तो आप इन myth को अपने से दूर भगाइए और सारा ध्यान ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ाने में लगाइए. जब ट्रैफिक बढ़ेगी तो आपके ब्लॉग की कमाई भी अपने आप बढ़ेगी. मुझे उम्मीद है की आप लोगो को आज का मेरा यह पोस्ट Top 10 Blogging Myth jise blogger sahi manate hai. जरुर पसंद आया होगा. यदि कोई  प्रश्न हो तो आप इसे कमेंट बॉक्स के जरिये हमसे जरुर पूछे.

4 टिप्‍पणियां: