सोमवार, 27 नवंबर 2017

Keyword Stuffing Kya hota Hai(क्या होता है) और इससे क्या नुकसान है?

keyword-stuffing-kya-hota-hai
दोस्तों क्या आप लोगो को पता है की Keyword Stuffing kya hota hai(क्या होता है ).  यदि आप एक blogger है, या अपना ब्लॉग शुरू करने की सोच रहे है तो यह आपके लिए बहुत ही जरुरी हो जाता है की आप को Keyword Stuffing की जानकरी हो. क्योकि यदि आप इसके बारे में नहीं जानेंगे तो आपकी ब्लॉग के पोस्ट सर्च इंजन में रैंक नहीं कर पायेंगे, और आपको organic traffic नहीं मिल पायेगी.
यदि   आप इस पर ध्यान नहीं  देंगे तो आपका ब्लॉग का रैंक हाई होने के बजाय उसका Rank down हो जायेगा.

Keyword Stuffing Kya hota Hai(क्या होता है)

search engine से ज्यादा traffic पाने के लिए लगभग सभी blogger SEO फ्रेंडली content लिखते है,  और  अपने आर्टिकल को किसी खास keyword पर सर्च इंजन में  रैंक कराया जाता है.
लेकिन जब target keyword को बार बार इस्तेमाल किया जाता है ताकि search engine bots आपके द्वारा लिखे गए आर्टिकल को ही high rank करें तो इसे Keyword Stuffing कहा जाता है. 
यह एक एक Black Hat SEO (Search Engine Optimization) Technique है. इसे बहुत से Bloggers Unfair Rank Advantage के लिए इस्तेमाल करते है.

ब्लॉग का ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?

Keyword Stuffing example-

उदहारण के लिए - blogging क्या है, blogging कैसे करें, blogging से पैसे कैसे कमाए, blogging के best प्लेटफोर्म कौन सा है.
इस उदहारण में है बार blogging शब्द का इस्तेमाल किया गया है. 18 शब्द में 4 बार blogging शब्द का इस्तेमाल किया गया है. जो की 22 प्रतिशत से भी ज्यादा है.
  • इस तरह से अपने ब्लॉग में कीवर्ड को इस्तेमाल करने से यदि विजिटर आपके ब्लॉग पर आते है तो उन्हें वह पोस्ट बोरिंग लगेगा और वे उसे छोड़ कर चले जायेंगे.
  • जब सर्च इंजन आपके ब्लॉग पोस्ट को इंडेक्स करने के लिए स्कैन करेगा तो जा वह बार बार एक ही कीवर्ड को रीड करेगा तो हो सकता है की वह आपके ब्लॉग पोस्ट को इंडेक्स ही न करें., और सर्च इंजन आपके ब्लॉग को penalize कर दें.
  • जबकि हम एक आर्टिकल में keyword density 2.5 ही रख सकते है. SEO की नज़र से यदि उपर्युक्त प्रतिशत होना चाहिए. 

Blog post में Keyword Stuffing कहाँ -कहाँ होता है ?

यदि आप एक blogger है तो आपके लिए यह जानना बहुत ही जरुरी है की keyword stuffing कहाँ -कहाँ हो सकती है, क्योकि यदि आप इससे बचना चाहते है तो आप को इसकी जानकारी हो ही चाहिए.
वैसे यह चार जगहों पर ज्यादा होता है.

  1. Post title 
  2. Post URL
  3. Post Content
  4. Post meta description
Post Title
किसी भी आर्टिकल के टाइटल में keyword एक से जयादा बार इस्तेमाल किया जाना इसके अंतर्गत आता है.

Post URL

टाइटल की तरह ही यदि URL में भी keyword  एक से अधिक बार इस्तेमाल किया जाए तो यह भी stuffing  के अंतर्गत आता है.

Post Content

यदि आर्टिकल में keyword बहुत ज्यादा बार इस्तेमाल किया जाए तो भी यह stuffing कहा जाएगा.  इसमे पोस्ट heading , इंटरनल, और external लिंक भी आते है.

Post meta description

यदि meta tag या description में keyword को बार बार रिपीट किया गया है तो वह भी स्पैमिंग कहलाता है.

Keyword Stuffing से कैसे बचे?



  • post title  में  एक से अधिक बार कीवर्ड का इस्तेमाल न करें. 
  • post URL में भी कीवर्ड को दोहराने से बचे. एक से अधिक बार इस्तेमाल न करें 
  • जब भी आप आर्टिकल लिखे तो आप इसे अपने विजिटर के लिए लिखिए, यदि आप सर्च इंजन के लिए आर्टिकल लिखते है तो ऐसे आर्टिकल पर विजिटर नहीं आयेंगे, और सर्च इंजन भी उसे पसंद नहीं करेगा. 
  • आर्टिकल में keyword  की density 2.5 से ज्यादा न रखे, यदि संभव हो तो इसे 1 से 2 प्रतिशत ही रखे. क्योकि density के बढ़ने पर stuffing या spamming शुरू हो जाता है. 
  • आप कीवर्ड पर आर्टिकल लिखा रहे हो उसमे जुडी साडी जानकारी देने की कोशिश करें.
  • पोस्ट को बोरिंग बनाने की बजाय उसे रोचक बनायें. 

high quality content कैसे लिखे?

Keyword Stuffing से क्या नुकसान है ?

  • यदि आप keyword stuffing के द्वारा अपने पोस्ट को सर्च एंगी में रैंक करने की सोच रहे है तो आप गलत है, इससे आपका आर्टिकल रैंक करने की बजाय सर्च इंजन से ही गायब हो सकत है.
  • इसका ज्यादा बार इस्तेमाल से आपक ब्लॉग  या वेबसाइट penalized हो जायेगा, जिससे वह फिर सर्च इंजन में कभी भी दिखाई नहीं देगा.
  • इससे आर्टिकल बोरिंग हो जाता है, जिससे विजिटर आपके ब्लॉग को छोड़ कर चले जाते है, जिससे आपके ब्लॉग का bounce रेट भी बढ़ जायेगा.
  • यदि आप google या किसी और सर्च इंजन को बेवकूफ बनाने की सोच रहे है तो आप खुद ही बेवकूफ है, भाइयों बुरा मत मानना.
  • अपने दिमाग में एक बात बैठा ले की आप विजिटर के लिए आर्टिकल  लिख रहे है, न की सर्च इंजन के लिए. 
  • यदि आप keyword stuffing पर ध्यान देंगे तो आप एक बढ़िया आर्टिकल नहीं लिख पाएंगे. 

फोरम पोस्टिंग से ब्लॉग का ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?

Conclusion

keyword stuffing के बारे में जानना हर blogger चाहे वह नया हो या पुराना हो नहुत ही जरुरी है. क्योंकी यदि आप blogging को अपना कैरियर बनाना चाहते है तो मेरा यदि राइ है की आप इससे बचें और इस तरह के ट्रिक को अजमाने से बेहतर है की आप विजिटर की ध्यान में रख कर आर्टिकल लिखे.
मुझे उम्मीद है की आप लोगो को आज का मेरा यह पोस्ट Keyword Stuffing Kya hota Hai(क्या होता है) और इससे क्या नुकसान है? जरुर पसंद आया होगा. इसे आप अपने मिटो के साथ जरुर शेयर करें. और मेरे इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करना न भूले.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें