Meta Tag Kya Hai 😙SEO में इसका क्या महत्व है 😙

meta-tag-importance-for-blog-post-hindi
आज हम आप लोगो को  Meta Tag (मेटा टैग) के बारे में बताने वाले है की Meta Tag (मेटा टैग) Kya Hai. और औए इसे SEO में कैसे use करे.

आप सर्च रिजल्ट में किसी आर्टिकल पर click करने के पहले उसमे क्या देखते है?

यदि आप मेरे इस आर्टिकल को किसी search engine के द्वारा पढ़ रहे है तो आप को किसी कारण बताने की जरुरत नहीं है, कि आप इसे क्यों पढ़  रहे है.

क्योकि मैंने इसमे meta tag का इस्तेमाल किया है.

meta tag, SEO का नीव है जिस पर आपका web page खड़ा होगा. इसे web page को बनाते समय खुद ही मैनुअली सेट किया जाता है.

इसे बनाने में बहुत ज्यादा समय नहीं लगता है. लेकिन यह बहुत ज्यादा जरुरी है जितना की आप सोच रहे है.

search engine से आने वाली traffic, SEO के कारण ही आती है. इसलिए इसे हम छोड़ नहीं सकते है.

यही चीज़े हमारे कंटेंट को सर्च इंजन में यूजर की नज़र में लाती है.  जिसके लिए title और description ही जिम्मेदार होते है.
title-tag-and-meta-description-in-search-result

title और description tag का ही इस्तेमाल SEO के लिए ज्यादातर किया जाता है.  लेकिन इसे search bots और यूजर को अलग अलग तरीके के दिखाया जाता है.

आज हम इस ब्लॉग पोस्ट में जानेंगे की meta tag क्या है, और कैसे यह हमारे ब्लॉग पोस्ट के search रैंकिंग को प्रभावित करता है.
How to Create a Blog in Hindi (ब्लॉग कैसे बनायें)
Public Domain Content kya hota hai(क्या होता है), इससे पैसे कैसे कमायें ?

Meta Tag CTR (Click Through Rates) को कैसे प्रभावित करता है.


जिस प्रकार से एक बुक के कवर और इसके डिजाईन को देख कर यह सोच लेते है की इसे पढना चाहिए या नहीं.

ठीक उसी प्रकार से किसी ब्लॉग पोस्ट का title और description विजिटर को प्रभावित करता है की वह उसे पढ़े कि न पढ़े.

meta tag search engine marketing को बहुत ही आसान बना देता है, और यह पाना प्रभाव social media शेयरिंग पर भी डालता है.

चलिए अब हम आप लोगो को बताते है की tag का इस्तेमाल कैसे किया जाता है.
title-tag-and-meta-description-in-search-result

Meta Tag का इस्तेमाल कैसे किया जाता है.

वैसे तो कई प्रकार के tag HTML में होते है जिनमे से कुछ महत्वपूर्ण tag को हम बता रहे है.

1- Title Tag

यह मुख्य रूप से meta tag नहीं है, लेकिन यह वेब page के head सेक्शन में ही इस्तेमाल किया जाता है.

google search रिजल्ट के लिए टाइटल tag की लिमिट mobile डिवाइस के लिए 78 characters और 70 characters डेस्कटॉप डिवाइस के लिए होता है.

लेकिन यह जरुरी नहीं है की आप इन सभी का इस्तेमाल टाइटल के लिए करे. सामान्यत: 55 characters होना चाहिए.

अब हम इसमे नंबर भी ऐड कर सकते है, यदि चाहे तो इसमे डेट को भी ऐड कर सकते है. जिससे किसी डेट लिमिट में सर्च करने पर भी आपका ब्लॉग पोस्ट सर्च रिजल्ट में आ जाये.

जहा तह संभव हो title tag को छोटा रखे और उसमे कीवर्ड का इस्तेमाल जरुर करे.

यह  search result में आपके ब्लॉग पोस्ट की ranking और CTR को बढाने में सहायक हो सकती है.
email tracker tool की जानकारी हिंदी में 
infographic क्या होता है?

2-Image tag

image tag को भी टाइटल tag की तरह से meta tag नहीं कर सकते है. इसे alt tag और title से मिल कर बना होता है.😙

लेकिन यह सर्च इंजन के द्वारा साईट को identify करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

और जब image load नहीं हो पता है तो यह उस इमेज की जगह पर दिखाई देता है. और जब image पर माउस कर्सर जाता है तब टाइटल  दिखाई पड़ता है.

इस लिए हमेशा अपने ब्लॉग पोस्ट में image का इस्तेमाल करना चाहिए और उसके alt tag और title में आप अपने ब्लॉग पोस्ट के कीवर्ड का इस्तेमाल कर सकते है.

3- Description Tag

इस meta tag का इस्तेमाल करके आप यूजर और सर्च इंजन को अपने ब्लॉग पोस्ट के content का ओवरव्यू दे सकते है.

लेकिन google सर्च के algorithms के अनुरूप इसकी लिमिट  160 characters की होती है.

यह यूजर एक्स्पेरिंस के साथ साथ click through rate को भी बढ़ाने में बहुत ही सहायक होती है.

यदि आप अपने ब्लॉग पोस्ट का meta description नहीं लिखते है तो google खुद ही आप के ब्लॉग पोस्ट से description को ऐड कर लेता है.

कई बार ऐसा होता है की जो पोस्ट बिना meta description के होते है वो हाई रैंकिंग पा जाते है.

लेकिन ब्लॉग पोस्ट में अलग से meta description ऐड करने से कोई नुक्सान नहीं होता है, isase आपका ब्लॉग पोस्ट ज्यादा searchable हो जाता है.


4- Robots Nofollow और noindex tag

nofollolw tag का इस्तेमाल करके आप अपने ब्लॉग पोस्ट या इसके कमेंट बॉक्स से किसी अन्य ब्लॉग के लिंक को endorsed करने से रोक सकते है.

इस tag को ह्यूमन के द्वारा तो follow की जाता है, लेकिन इसे search bots रीड नहीं करते है, और वेबसाइट या ब्लॉग को backlinks नहीं मिलता है.

noindex का इस्तेमाल किसी वेब page को search engine में जाने से रोकने के लिए होता है. यदि हम इसका इस्तेमाल करेंगे तो सर्च bots उसे search engine result page पर शो नहीं करेंगा.

यह भी head सेक्शन में लिखा जाता है. और यह search bots को page index करने से रोकता है.

5- Keyword tag

keyword tag का इस्तेमाल करके सर्च इंजन को यह बताया जाता है की ब्लॉग के किस page को search के लिए रैंक करना है.

6- Viewport tag

जब mobile device में page किसी पॉपअप window में शो होते है तो इसे viewport कहते है.

डेवलपर इसका इस्तेमाल करके किसी वेबसाइट का मोबाइल usability को सेट करते है. और इसका इस्तेमाल से वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाया जाता है.

अब हम आप लोगो को बताएँगे की कैसे आप किसी भी ब्लॉग के meta tag को देख सकते है.

Free online tag checking Tools

अब हम आप लोगो को tag लगाने वाले tool और किसी ब्लॉग का tag को check करने वाले free tool के बारे में बताने वाले है. जिससे आप किसी भी tag की जाँच कर सकते है.

1- Tool for Blogger/ Blogspot

यदि आपका blog blogger.com या blogspot पर है तो आपको आपको अपने प्रत्येक ब्लॉग पोस्ट में meta description ऐड करने के लिए निम्न स्टेप को follow करने होंगे

  1. पहले आप setting आप्शन के search preference पर click करें. Setting > Search Preference
  2. अब इसमे meta tag सेक्शन में जाकर आप description के सामने edit लिंक पर click करें. अब एक box ओपन होगा यहाँ पर आप अपने ब्लॉग के बारे में 150 characters में लिखे और
  3. Enable search description? को YES कर दें.
  4. और save changes button पर click कर दें.
    blogspot-meta-tag-activate-method
  5. इसके बाद आप अपने किसी ब्लॉग पोस्ट को edit करे या कोई नया ब्लॉग पोस्ट को लिखे. दाहिने तरफ आपको search preferences का आप्शन दिखाई देगा.
  6. अब आप यहाँ पर अपने ब्लॉग पोस्ट के लिये meta description लिख सकते है. लेकिन इसमे वर्ड काउंट की सुविधा नहीं है.
    blogspot-meta-description-for-blog-post-hindi

2- Tools for Wordpress

Wordpress के लिए सबसे प्रचलित plug-in, Yoast SEO है, जिसके द्वारा आप अपने हर ब्लॉग पोस्ट में अलग अलग meta description को ऐड कर सकते है.

यह अधिकांश ब्लॉगर के द्वारा meta description  को ऐड करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

3-Buzzstream

इसके द्वारा आप अपने ब्लॉग या किसी भी ब्लॉग पोस्ट का meta tag का पता कर सकते है.

इसमे आप जिस URL को टाइप करेंगे यह उसके meta tag की जानकारी आपको CSV फाइल में देगा.

4-SEOcentro

यह भी एक फ्री tool है जिसके द्वारा आप किसी url के detail इनफार्मेशन के प्राप्त कर सकते है.

meta tag की एनालिसिस को कलर कोड में दिखाता है, जिससे हर tag की जानकारी इजी वे में पता लग जाता है.

यह पूरे ब्लॉग की keyword tag की जानकारी उपलभ करा देता है.
pay per click advertisement क्या होता है?
keyword stuffing क्या होता है?

Conclusion

meta tag HTML का एक बेसिक पार्ट है. और इसके द्वारा ही search engine यह समझता है, की पूरे content का matter क्या है, और यह आर्टिकल किस विषय पर लिखा गया है.

अब search engine में इस तरह से तब्दीली  किया जा रहा है ताकि वह बिना meta tag  के ही पूरे आर्टिकल को scan करके वही से description और tag को उठा ले.

आप इसके द्वारा विजिटर और search bots दोनों पर एक इम्प्रैशन दाल सकते है.

मुझे उम्मीद है की आज का यह पोस्ट  Meta Tag (मेटा टैग) Kya Hai और इसका क्या महत्व है, आप लोगो को जरुर पसंद आएगा.

आप इसे अपने मित्रो के साथ facebook, twitter पर जरुर शेयर करे.

1 comment:

  1. I really appreciate your skilled approach. These square measure items of terribly helpful data which will be of nice use on behalf of me in future.

    ReplyDelete