गुरुवार, 7 दिसंबर 2017

SEO vs SEM me kya antar hai (क्या अंतर है ?)

SEO-vs-SEM
दोस्तों आप सब SEO (search engine optimization) के बारे में तो जानते ही है. लेकिन क्या आप जानते है कि SEM (search engine marketing) क्या होता है? और यह सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन से कैसे भिन्न है.
यदि आपके ब्लॉग या वेबसाइट का डिजाईन बहुत ही बेहतर है, और उस  पर आपने high quality content भी लिखे है. लेकिन यदि आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर traffic नहीं है तो आपका ब्लॉग का कोई मायने नहीं है.
SEO & SEM दोनों ही ब्लॉग या वेबसाइट पर traffic लाने के लिए marketing  के दो महत्वपूर्ण तंत्र हैं.

SEO (search engine optimization) क्या होता है ?



सर्च इंजन से free आर्गेनिक ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए पेज को किसी खाश keyword के हिसाब से ऑप्टिमाइज़ करना ही SEO (search engine optimization) कहलाता है.
गूगल ने SEO algorithms में change करके  सर्च इंजन को और भी ज्यादा स्मार्ट बनता जा रहा है.  लेकिन पूरा SEO दो केटेगरी में बंटा हुआ है.
  1. On-Page SEO
  2. Off -Page SEO

1- On Page SEO 

इसमे निम्न चीज़ सामिल होते है.
  • Optimized Meta data,जिसमे  page title tag भी शामिल होता है, Meta description, heading tags, और  image ALT tag, जो  target keywords को शामिल किये होता है.
  • Well-written और  optimized page जो  target keywords को शामिल किये हुये होते है.
  • Simple और  well-formatted page URLs जिसमे  selective keywords होते है.
  • content के साथ Social sharing integration भी होता है.

2- Off -Page SEO

  • high quality backlinks, जो ब्लॉग या वेबसाइट के पेज को सर्च इंजन में मेजोरिटी प्रदान कर सके.
  • किसी ब्लॉग या वेबसाइट का traffic social media पर sharing से बढ़ाना. social signal कहलाता है जो off page seo के अंतर्गत आता है.
  • Reddit, Digg, Stumbleupon जैसी सामाजिक बुकमार्किंग साइटों से visitor का ध्यान आकर्षित करना.
  • SEO search engine optimization, On-page और  Off-page के माध्यम से होता रहता है, जिससे नए विजिटर ब्लॉग या वेबसाइट की तरफ आते है. 
SEO के लिए मुख्यत: एक high quality content होना जरुरी है, जिसके द्वारा सर्च इंजन विजिटर को आकर्षित कर सके.
How to Create a Blog in Hindi (ब्लॉग कैसे बनायें)
Public Domain Content kya hota hai(क्या होता है), इससे पैसे कैसे कमायें ?

Search Engine Marketing (SEM) क्या होता है?

किसी सर्च इंजन में paid advertisement के द्वारा सर्च इंजन रिजल्ट पेज (SERP) में किसी keyword के द्वारा डिस्प्ले होना SEM search engine marketing कहलाता है.
दुसरे और सरल शब्दों में कह सकते है कि किसी भी सर्च इंजन के द्वारा paid traffic प्राप्त करना ही Search Engine Marketing (SEM) कहलाता है.
इस प्रकार के विज्ञापन को pay per click(PPC) के नाम से भी जाना जाता है.
search engine marketing में cost-per-click (CPC) ads, paid search ads और  paid search advertising भी शामिल होता है.
  • PPC- Pay Per Click
  • PPC- Pay Per Call
  • CPC- Cost Per Click
  • CPM (cost-per-thousand impressions)
  • Paid Search Advertising
PPC(pay per click) advertising के द्वारा सर्च क्वेरी से मिलते जुलते keyword के द्वारा वेबसाइट के विज्ञापन को serp में शो करता है.
ये विज्ञापन orgenic listing के बगल में या इसके ऊपर search engine resultpage (SERP) में दिखाए जाते हैं, जो आपकी blog या वेबसाइट  को अपने वेब पेज की दृश्यता, लैंडिंग पेज, ब्लॉग ऑब्जेक्ट और ट्रैफिक  को बढ़ाने का अवसर देता है.
इस प्रकार से आये हुये ट्रैफिक को paid traffic के रूप में जाना जाता है.

SEO vs SEM , SEO  aur SEM me difference (SEO और SEM में अंतर)



  • SEO free of cost होता है. जबकि SEM एक paid service है.
  • search engine optimization के लिए on page और off page seo जरुरी होता है, जबकि SEM के लिए इनकी कोई जरुरत नहीं होती है.
  • SEO में सर्च क्वेरी के हिसाब से SERP में पोजीशन ऊपर निचे होती रहती है. SEM ranking पोजीशन को प्रभावित नहीं करता है.
  • search engine optimization के लिए high quality content की जरुरत होती है. जबकि SEM के लिए इसकी  जरुरत नहीं होती है.
  • SEO से आये हुए ट्रैफिक के लिए सर्च इंजन को कोई पैसा नहीं देना होता है. जबकि SEM से आये ट्रैफिक के लिए प्रत्येक click के लिए pay per click या cost per click के हिसाब से पैसा देना होता है.
  • यदि आप कोइ ब्लॉग या वेबसाइट को शुरू किये है और  चाहते है की वह तत्काल ही सर्च इंजन में शो होने लगे तो आपको SEM के द्वारा ही कर सकते है. SEO के द्वारा सर्च रिजल्ट में आने में कुछ समय लगता है.

SEO और SEM कौन सा आपके लिए बेहतर है ?

अब बात यहाँ पर यह आती है की कायं सी तकनीक आपके लिए  बेहतर है तो मेरा यह मानना है की यदि आप एक बिजनेसमैन है और आपके online तथा ऑफलाइन बिज़नस है तो आपके SEM के द्वारा उसे ऑनलाइन प्रमोट कर सकते है. और अपने सेल्स को बढ़ा सकते है.
लेकिन यदि आप एक blogger है तो आप के लिए SEO ही बेहतर होगा. लेकिन यदि आप चाहे तो SEM को भी आजमा सकते है. लेकिन यदि आप adsense का इस्तेमाल आप कर रहे है तो मेरा यदि सलाह होगा की आप SEM की बजाय SEO को अजमाए.
email tracker tool की जानकारी हिंदी में 
infographic क्या होता है?

Conclusion

SEO (search engine optimization) और SEM (search engine marketing) दोनो का अपना महत्व है, लेकिन इन दोनों ने सबसे बेहतर SEO है, जो आपके ब्लॉग  या वेबसाइट को आर्गेनिक traffic free में उपलब्ध करता है. बस जरुराथोती है आपको सही ढंग से अपने ब्लॉग के पेज को ऑप्टिमाइज़ करने की.
मुझे उम्मीद है की आप लोगों को आज का मेरा यह पोस्ट SEO vs SEM me kya antar hai (क्या अंतर है ?) जरुर पसंद आया होगा और आप अब यह अची तरह से  जान गए होंगे की SEO और SEM क्या होता है, और इनमे क्या अंतर है ? यदि यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे आप अपने मित्रो के साथ सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें, और हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब जरुर करें

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें