CPM, CPA,CPC, RPM CTR Kya hota hai- A beginner's Guide [infographic]

CPM-CPA-CPC-RPM-CTR-Kya-hota-hai
दोस्तों आज हम आप लोगो को बताएँगे की online advertisement में जो शब्द इस्तेमाल होते है, जैसे CPM, CPA,CPC, RPM CTR इनका पूरा नाम और definition क्या है.

यदि आप अपने किसी भी बिज़नस का ऑनलाइन advertisement करना चाहते है तो सबसे पहले आप को इनमे use होने वाले शब्दों का मतलब पता होना चाहिए.

जब तक आप इसे अच्छी तरह से नहीं जानेंगे तब तक आप इसमे अच्छी तरह से परफॉर्म नहीं कर पाएंगे.

यदि आप blogger है तो आप किसी न किसी advertisement नेटवर्क का ads अपने ब्लॉग पर जरुर इस्तेमाल करते होंगे.

आप adsense, adchoice, chitika किसी का भी ads अपने ब्लॉग पर पर इस्तेमाल करें.

लेकिन आपको इसमे use होने वाले टर्म का पता होना बहुत ही जरुरी है.

आप यदि adsense का use करते होंगे तो देखते होंगे की उसमे भी आपको CPM. CPC CTR,और Page RPM जैसे शब्द use हुए है.

आज इस पोस्ट में आप लोगो हम इन्ही शब्दों का पूरा नाम definition पूरी डिटेल से बताने वाले है.

ताकि आप इनके टर्म को समझ कर आप इन ads नेटवर्क से अच्छी अर्निंग कर सके.
blog post का टाइटल कैसे लिखे?
blog का SEO कैसे  करें?
सर्च इंजन में ब्लॉग को रैंक कैसे कराये?

CPM, CPA,CPC, RPM CTR Hindi definition


यदि आप एक एक publisher यानि की किसी ब्लॉग के owner है, या आप अपने किसी भी बिज़नस को online advertisement करना चाहते है.

तो आपको online advertisement के सभी टर्म को अच्छी तरह से जानना होगा.

online advertisement के टर्म निम्न है. जैसे

  • RPM (REVENUE PER MILE)
  • CTR
  • CPC
  • CPM
  • CPA

RPM (REVENUE PER MILE)

इसका पूरा नाम revenue per mile hai. सभी adsense publisher अक्सर अपने adsense account में देखते होंगे की उनके एर्निंग में page RPM दिखता है.

चुकी यह RPM का मतलब यह होता है की आपने अपने ब्लॉग से 1000 पेज व्यू पर कितना पैसा कमाया.

Adsense RPM Calculate karne ka Formula :: – RPM = (Estimated earnings / Ad impressions) * 1000

यदि आपके ब्लॉग पर 3000 पेज व्यू पर $30 की कमाई हुई है, और आपके Impression 5000 होगी तो

आ[के ब्लॉग का RPM = (30/5000 *)1000=  $6 होगा.

यह आपके ब्लॉग के CTR और CPC पर निर्भर करता है. यदि आपके ब्लॉग का CTR और CPC high है तो आपका page RPM भी बहुत ही high होगा.

चलिये अब जानते है की CTR क्या होता है.

CTR क्या होता है, इसे increase कैसे करे. 

इसका पूरा नाम  (Full Name) Click Through Rate होता है. यह किसी भी advertisement के प्रभाव को दर्शाती है.

अर्थात CTR यह बताता है की advertisement को देखने वाले कुल लोगो में से कितने लोगो ने उस advertisement पर क्लिक किया उनके परसेंटेज को बताता है.

CTR Calculate Karne Ka Formula: : CTR = (Number of Clicks / Number of impressions) x 100

जैसे.यदि 900 लोगो ने advertisement को देखा अर्थात imprsssion पड़ा और उसमे से 4 लोगो ने उस ads पर क्लिक किया तो CTR

(4/900)*100 = 0.44 % होगा.

चुकी सभी adsense यूजर सही जानना चाहते है की एक बढ़िया CTR आखिर क्या है? मतलब यह की CTR कितने परसेंट होना चाहिये.

इस बात की कोई गारंटी नहीं होती है की आपके ads पर ज्यादा क्लिक होगा तो एअर्निंग भी ज्यादा होगी. कई बार ज्यादा क्लिक होने पर भी एअर्निंग कम होती है और कम क्लिक होने पर ज्यादा एअर्निंग होती है.

आपके ब्लॉग या वेबसाइट में आपके ads को किस जगह पर प्लेस किया है, किस लोकेशन के विजिटर उस ads पर क्लिक किये है, इन सब बातो इस बात पर एअर्निंग निर्भर कराती है.

CTR Increase करने का 7 आसान तरीका 

यदि आप एक publisher है तो आप निम्न बातो को फॉलो कर के अपने google adsense के CTR को increase कर सकते है.

  • आप अपने ब्लॉग में ads की साइज़ और उनकी पोजीशन को सही जगह पर रखे. ताकि अधिक से अधिक लोग उस पर क्लिक करें.
  • एक पेज पर 3 से 6 ads का ही इस्तेमाल करें. अधिक ads का इस्तेमाल विजिटर को confuse कर देता है. जिससे CTR प्रभावित होता है.
  • low CPC वाले ads को ब्लाक कर दें.
  • कोशिश करे की ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक आपके ब्लॉग पर search engine से आये.
  • adsense के text और display ads दोनों का इस्तेमाल करें.
  • ads को post के बिच में इस्तेमाल करके भी आप पाने CTR को बढ़ा सकते है.
  • adsense में जो low category के ads है उनको block कर दें.

CPC क्या होता है और इसे कैसे increase करें.

इसका full name - cost per click होता है. इसमे advertiser publisher को तभी पैसा देता है जब उसके ads पर क्लिक होता है.

CPC , keywords पर निर्भर करता है. कुछ ऐसे keyword होते है जिस पर click का rate high होता है उसे high CPC keywords कहा जाता है.

जिन keyword पर click का पैसा कम होता है उसे low CPC keywords कहा जाता है.

cpc का rate keyword के कम्पटीशन पर भी निर्भर करता है. यदि keyword का कम्पटीशन ज्यादा है मतलब की उसकी डिमांड भी ज्यादा है तो उसका cost per click भी ज्यादा होगा.

cpc की rate $70  भी हो सकता है और $0.07 भी हो सकता है.

CPC calculate karne ka formula : advertiser ki total cost/ numbers of clicks

अब जानते है की CPM क्या होता है.

CPC Increase करने का 7 आसान तरीका 

यदि आपके ब्लॉग या वेबसाइट का का cpc काफी low है तो आप निचे बताये गए तरीके को अपना कर अपने ब्लॉग का cpc high कर सकते है.
  • यदि आपका ब्लॉग हिंदी में  किसी एक एक टॉपिक पर है तो आपका adsense cpc high रहता है. और आपको एक क्लिक का $0.5 से $2.0 तक मिल सकता है.
  • लेकिन यदि आपका ब्लॉग इंग्लिश में है तो आपको प्रति क्लिक $1 से $10 तक मिल सकता है, यदि आपके ब्लॉग पर US और Uk की traffic है तो.
  • कुछ ऐसे टॉपिक्स है जिस पर आप यदि ब्लॉग बनाये तो आप अच्छी कमाई कर सकते है.
    • Blogging Tips
    • Health
    • Technology
    • Fashion
    • Relationship
    • Finance
    • Hosting
    • Insurance
    • Software
    • Real State
  • लेकिन यदि आप पहले से ही ब्लॉग शुरू कर चुके है तो आपको ब्लॉग पोस्ट लिखते समय इस बात का ध्यान रखना होगा की आप हमेशा high cpc keyword पर ही अपने आर्टिकल को लिखे. यदि आप इन keyword पर आर्टिकल पोस्ट करे तो cpc high रहेगा.
    • Insurance
    • Web hosting
    • Loans
    • Credit
    • Software
    • Trading
    • Seo Services
    • Mobile & Laptop
    • Technology
    • Health & Beauty
    • Fashion
    • Real State
  • आपके आर्टिकल का lenght कम से कम 1000 शब्द की होनी चाहिए, इससे bounce rate कम होगा. और bounce rate कम होने पर cpc high हो जाती है.
  • यदि आपका का ब्लॉग हिंदी में है तो आपको अपने keywords को इंग्लिश में इस्तेमाल करना चाहिए. इससे आपके ब्लॉग का organic traffic बढेगा. और आर्गेनिक traffic बढ़ने पर CPC high होता जायेगा.


CPM (cost per Mile) kya hota hai.

इसका पूरा नाम cost per mile होता है, जबकी इसे cost per thousand के नाम से भी जाना जाता है.

इसमे advertiser, ads publisher को per 1000 इम्प्रैशन का एक निश्चित अमाउंट देता है जो पहले ही ads network से तय किया गया होता है.

जैसे - यदि आपके ads का टोटल cost $500 है और आपके ads पर 15000 इम्प्रैशन आता है तो  हम इसमे 1000 से भाग देंगे. और आएगा उससे टोटल cost में भाग देंते है.

15000/1000=15

500/15= $33.33

यहाँ पर 33.33 आपका CPM होगा.

CPM calculate karne ka formula- 

CPM = total cost / (total impression / 1000)

Whats is CPA kya hai [Hindi]

इसका पूरा नाम cost per action होता है. इसे cost per conversion या pay per action भी कहा जाता है.

यह affiliate marketing या refferal marketing में इस्तेमाल किया जाता है.

इसमे advertiser , publisher को तभी पेमेंट करता है जब उसके ads से कोई सेल होता है. या कोई कन्वर्शन होता है.

यदि विजिटर ads पर क्लिक करके उस वेबसाइट या ब्लॉग पर चला भी जायेगा तो जब तक वह विजिटर कोई समान purchase नहीं करेगा तब तक publisher को कोई भी पेमेंट नहीं मि   लेगा.

यह तभी कारगर होता है, या उन्ही वेबसाइट के लिए कारगर है इन पर बहुत ज्यादा ट्रेफिक हो.

एक CPA कैलकुलेशन में  form submit, newsletter sign up, filling up inquiry form, registration और  sale यह सब सामिल है.
facebook से ब्लॉग का ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?
फोरम पोस्टिंग से ब्लॉग का ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?
CPM, CPA-CPC-RPM-CTR-Kya-hota-hai- A-beginner's-Guide-infographic

Conclusion

चाहे आप एक publisher हो या advertiser आपको इन बताये गए ऑनलाइन advertisement के term और words के बारे में जानना जरुरी है.

यदि आप एक advertiser है तो यह इसलिए आपको जानना जरुरी है क्योकि जब आपको सारी चीजों का पता होगा तभी आप अपने बिज़नस के लिए सही advertisement को सेलेक्ट कर पाएंगे

यदि आप एक publisher है तब भी आपको इन सभी online advertisement के टर्म को जानना बहुत ही जरुरी है क्योकि

बिना इसके जानकारी के आप अपने ब्लॉग की एर्निंग को नहीं बढ़ा सकते है. और सही जानकारी होने पर आप low ट्रैफिक में ही अच्छी एर्निंग कर सकते है.

मुझे उम्मीद है की आप लोगो को सारे टॉपिक्स पूरी तरह से समझ में गया होगा. और मेरा आज का यह पोस्ट जरुर पसंद आया होगा.

इसे आप अपने मित्रो के साथ facebook, twitter, googleplus पर जरुर शेयर करे.

2 comments:

  1. really very nice,
    helpful post
    thanks for sharing

    ReplyDelete
  2. Very informative, keep posting such sensible articles, it extremely helps to grasp regarding things.

    ReplyDelete