Ads Top


Keyword cannibalization kya hota hai aur isase kaise bache


Keyword-cannibalization-kya-hai
दि आप एक blogger है तो आपके keyword cannibalization के बारे में जानना बहुत ही जरुरी है की keyword cannibalization kya hai? search engine optimization का यह बहुत ही अहम् चीज़ है.
यदि आप Keyword cannibalization इस पर ध्यान नहीं देंगे तो इससे आपके blog की ranking सर्च engine में गिरने लगेगी, और यह भी संभव है की आपको सर्च इंजन के रिजल्ट पेज serp से बाहर कर दिया जाये.
इसलिए समय रहते आप यह  लीजिये की Keyword cannibalization kya hai.

keyword cannibalization kya hai

जब किसी ब्लॉग या वेबसाइट के multiple पेज किसी एक keyword को target कर के लिए लिखे जाते है, तो इसे ही Keyword cannibalization कहते है.
जब एक ही keyword पर कई ब्लॉग पोस्ट लिखे रहते है तो सर्च इंजन में दोनों ही बेहतर performance नहीं कर पाते है, और इन पेज का CTR (Click through Rate) भी कम हो जाता है.
कई बार ऐसा होता है की सर्च इंजन इसे duplicate content समझ कर SERP से रिमूव कर देता है.
यह आपके CTR को दो पेज में बाँट देता है. यह आपके google में ranking पर भी इफ़ेक्ट डालता है.
एक keyword को target करके दो पेज लिख कर सर्च रिजल्ट के सातवे और आठवे नंबर पर आने से बेहतर यह है की एक keyword पर एक ही पेज बनाये और 2 या 3 नंबर पर सर्च रिजल्ट में आये.

SEO me keyword cannibalization ka effect

यदि आपके पेज अलग अलग keyword को target करते है तो seo के हिसाब से यह बहुत ही बेहतर है , सर्च इंजन में ranking के लिए.
लेकिन यदि आपके कैसे पेज या दो पेज एक ही keyword को target करते है तो इससे आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर निम्न इफ़ेक्ट पड़ेगा.

Page की quality और Authority का damage हो जाना.

जब दो पेज एक ही keyword को target करते है तो इसकी सबसे बड़ी दिक्कत यह है की यह दोनों पेज सर्च इंजन में रैंक करने के लिए एक दुसरे से compitition करते है, और high relevent page बनने की बजाय केवल relevent पेज रह जाते है.

serach engine का confuse होना.

एक keyword से multiple पेज को target करने पर सर्च इंजन यह नहीं समझ पता की ब्लॉग का कौन सा पेज किस बारे में है.
इस वजह से एक गलत पेज सर्च इंजन में high rank पा जाता है, लेकिन वहा से CTR नहीं ले पता है. जिसकी वहज से पेज तो रैंक कर गया, लेकिन traffic drive नहीं कर पता है.

Keyword cannibalization से Bounce rate का बढ़ जाना 

जब आप अपने ब्लॉग पोस्ट को Keyword cannibalization करते है तो आपके ब्लॉग पोस्ट के इंटरनल लिंक एक ही इनफार्मेशन के लिए विजिटर को कई पेज पर रेफर करते है.
विजिटर जो इनफार्मेशन खोज रहा होता है वह वहा तक नहीं पहुच पता, जिससे विजिटर confuse हो जाता है. और वह आपके ब्लॉग को लीव कर करके चला जाता है. इससे आपका bounce rate बढ़ जाता है.
यदि विजिटर को एक ही पेज में सारे इनफार्मेशन मिल जाए तो वह उस पेज पर ज्यादा देर तक समय बिताएगा और आपके ब्लॉग का bounce rate भी नहीं बढेगा.

keyword cannibalization se kaise bache

इससे बचने के लिए आप ms excel की सहायता ले सकते है. इसमे आप एक फाइल बना लीजिए और जो भी ब्लॉग पोस्ट लिख रहे है. उसका title , keyword,URL, date आदि की सारी जानकारी आप उसमे save करते जाए.
जब भी कोई post लिखे तो पहले उस स्प्रेडशीट से चेक कर ले की कही आप duplicate content तो नहीं लिख रहे है.
आप जब ब्लॉग पोस्ट को लिखने के पहले keyword research करते है तो उसमे आप high volume, and low compitition को ही select कीजिये.
अपने keyword को title, meta tag, content में अच्छी तरह से प्लेस कीजिये.
यदि आप किन्ही दो पेज को एक में मर्ज कर रहे है तो यह ध्यान रखे की आप 301 redirection अच्छी तरह से impliment हो ताकि 404 error: file not found का मेसेज ना आये.

Conclusion

Keyword cannibalization से seo में बहुत से प्रॉब्लम हो सकते है. लेकिन इन्हें आप आसानी से फिक्स भी कर सकते है. इसके लिए आपको रेगुलर अपने ब्लॉग के seo health को चेक करते रहना होगा.
जब भी आप अपने ब्लॉग पर कोई भी नयी पोस्ट लिखे तो इस बात का ध्यान रखे की एक ही keyword पर दो पोस्ट ना लिखे.
मुझे उम्मीद है की आप लोगो को आज का यह पोस्ट keyword cannibalization kya hota hai जरुर पसंद आया होगा.
इसे आप अपने मित्रो में social media पर जरुर शेयर करे.

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.