Cache memory in Hindi & Type of Cache memory

Cache memory in Hindi: यह एक विशेष प्रकार की तीव्र गति की मेमोरी होती है जो कि कंप्यूटर की प्रोसेसिंग की गति को बढ़ा देती है| C.P.U. की गति अधिक होती है लेकिन RAM की गति कम होने के कारण CPU व RAM के मध्य डेटा स्थानांतरण की गति कम हो जाती है कैश मेमोरी की गति अधिक होती है

Cache-memory-in-hindi
दोस्तों क्या आप जानते है की Cache memory क्या होती है ? और यह कितने प्रकार की होती है?  हम आपको बतायेंगे Cache memory in Hindi. हम सब computer, मोबाइल का इस्तेमाल तो करते ही है.  Ram and Rom memory के बारे में भी कुछ ना कुछ जरुर जानते होंगे.

लेकिन यह cache memory का  मोबाइल या computer में क्या काम है.  यह कितने प्रकार का होता है और  difference between virtual and cache memory in Hindi.  इन सब बातो को जानने के लिए आपको आज का यह पोस्ट Cache memory in Hindi & Type of Cache memory  पूरा पढ़िए.

तो आइये जानते है की What Is Cache Memory In Hindi, यदि आप एक सीओ म्पुटर यूजर है तो आप इसके बारे में जरुर सुने होंगे लेकिन इसके बारे में पूरी जानकारी शायद ही होगी. यदि आपको इसके बारे में पूरी जानकारी नही है तो आप इस पोस्ट Cache Memory Kya Hai In Hindi को शुरू से पढ़ कर आप पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है.

Cache Memory Meaning in Hindi?

computer, एंड्राइड मोबाइल में दो तरह की memory होती है. पहली RAM होता है और दूसरा ROM होता है. लेकिन  जब प्रोसेसर से डाटा ram को ट्रान्सफर होता है या ram से डाटा प्रोसेसर को ट्रान्सफर होता है तो ram की स्पीड प्रोसेसर से कम होने के कारण computer के काम करने की गति कम हो जाती है.

computer के प्रोसेसिंग की गति हो बढ़ने के लिए एक छोटे से memory का इस्तेमाल की जाती है. जिससे प्रोसेसर अपनी full स्पीड पर काम कर सके. यह छोटी सी memory computer processor के अंदर ही बनी होती है. जिसे cache  memory के नाम से जानते है.

इसे CPU की memory  भी कहा जाता है जिन प्रोग्राम और निर्देशों का बार-बार इस्‍तेमाल किया जाता है उनको कैश मेमोरी (Cache Memory) अपने अंदर सुरक्षित कर लेती है, प्रोसेसर कोई भी डाटा प्रोसेस करने से पहले कैश मेमोरी (Cache Memory) को चैक करता है और अगर वह फाइल उसे वहां नहीं मिलती है तो उसके बाद वह RA M यानि Primary memory को चैक करता है.

चुकी यह एक Volatile Memory है जिसके कारण तत्काल  में चल रहे सॉफ्टवेयर के अनुसार इसमें का डाटा बदलता रहता है. RAM की तरह ही इसमें स्टोर डाटा पॉवर के रहने तक ही स्टोर रहता है, जैसे ही पॉवर कट होता है वैसे ही समसे स्टोर डाटा रिमूव हो जाता है.

Cache Memory  In Hindi

cache memory की साइज़ बहुत ही कम 256 kb से 4 mb तक ही होती है, इसके डाटा ट्रांसमिशन की स्पीड बहुत ही फ़ास्ट होती है, जिसका उपयोग computer में CPU के execution पॉवर को इम्प्रूव करने के लिए किया जाता है.

कैश मेमोरी CPU और ram के बीच एक ब्रिज की तरह काम करता है, प्रोसेसर डाटा को पहले cache memory में ही खोजता है जब वह फाइल उसे एहा नही मिलती है तो उसके बाद वह उसे ram के खोजता है. इसी कारण computer के काम करने की स्पीड कम नही होती और computer की स्पीड फ़ास्ट बना रहता है.


Types Of Cache Memory In Hindi

Cache Memory  2 प्रकार की होती है.

  1. Memory caching
  2. Disk Caching

Memory caching

 Memory का वह हिस्सा जो  SRAM (Static Random Access Memory) से बना होता है और बहुत ही फ़ास्ट गति से काम करने वाला होता है. उसे MEMORY CACHING कहा जाता है, इसे Cache Store या Ram Cache भी कहा जाता है.

प्रोग्राम को रन करते समय कुछ डाटा को बार बार यूज़ करना होता है इसलिए उसे SRAM में स्टोर किया जाता है. computer और मोबाइल जैसे सभी digital गैजेट में इसी  memory का इस्तेमाल सबसे ज्यादा की जाती है.

Disk Caching

डिस्क कैशिंग RAM में फाइल कैशिंग के लिए जो थोडा जगह होता है उसे ही कहा जाता है.इसके इस्तेमाल से RAM की स्पीड कई गुना बाद जाती है. क्योकि पप्रोसेसर उसमे उन फाइल को रखता है जिनका इस्तेमाल उसे बार बार करनी होती है. Disk Memory का इस्तेमाल Application या Software के Display को बढ़ाने का होता है.

Advantage (लाभ) Of Cache Memory In Hindi

Cache Memory के कुछ लाभ भी होते है।  हम आपको आगे बता रहे है।
  • यह आपके द्वारा दिए गए  Instruction को  Store करके रखती है.  जिससे आपको Software को Fast Use करने में मदद मिलती है.
  • CPU किसी data को सबसे पहले  Cache Memory Check करता है. अगर वह डाटा वह पर मौजूद है तो काम तेज़ी से हो जाता है और CPU को RAM की जरूरत नही पड़ती  है.
  • cache memory भी computer या  मोबाइल के फ़ास्ट स्पीड को बनाये रखने में अहम योगदान देता है.
  • जब किसी  Application उपयोग करते है तो उस समय cache डाटा टेम्परेरी रूप से  Cache Memory  में स्टोर रहता है यदि आप चाहे तो उसे वह से सेव कर सकते है.
  • Difference Between Register And Cache Memory In Hindi
  • रजिस्टर और Cache memory के बीच मुख्य  अंतर यह है कि रजिस्टर उस डेटा को रखता है जो वर्तमान में CPU Processing कर रहा है, जबकि cache  memory उस डेटा को रखती है जो प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक होगा.
  • register की रेंज 32-बिट्स से लेकर 64-बिट्स रजिस्टर तक होती है, जबकि cache memory क्षमता KB से MB तक होती है.
  • processor एक्सेस मेमोरी की तुलना में तेजी से रजिस्टर करता है।
  • Computer Register Program Counter, Instruction Register, Address Register आदि हैं. जबकि cache memory कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी और CPU के बीच buffer का काम करता है.

Difference Between Virtual And Cache Memory In Hindi

Virtual Memory और Cache Memory में जो अंतर होते है वो निम्नलिखित है.
  • Virtual memory का साइज़ cache memory के काफी ज्यादा होता है.
  • cache memory एक प्रकार हा हार्डवेयर है जो CPU के अंडर बना होता है. जबकि Virtual memory  एक प्रकार का सॉफ्टवेर होता है, जो ऑपरेटिंग सिस्टम का एक अंग है और ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही कण्ट्रोल किया जाता है.
  • Virtual Memory Technical होती है, जबकि Cache Memory एक प्रकार की स्टोरेज यूनिट  होती है.

Conclusion:

आज का यह पोस्ट Cache memory in Hindi & Type of Cache memory के माध्यम से हमने आप सब को Cache Memory In  Hindi के बारे में बताया. उम्मीद है की  आपने इस पोस्ट के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की होगी.

Advantage Of Cache Memory In Hindi आपने इस पोस्ट में जाना. उम्मीद है आप भी अब हमारी पोस्ट के माध्यम से इसकी जानकारी प्राप्त करके इसका उपयोग करेंगे. और आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें Comment करके बताये.

Difference Between Virtual And Cache Memory In Hindi के बारे में भी आज आपने जाना. Social Media पर भी यह पोस्ट Type of Cache memory In Hindi ज़रुर Share करे. जिससे और भी ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके.

Difference Between Register And Cache Memory In Hindi के बारे में भी आज आपने जाना उम्मीद है की  आपने इस पोस्ट के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की होगी.

हमारी पोस्ट Cache Memory In Hindi में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है, इस पोस्ट के बारे में तो Comment Box में Comment करके हमसे पूछ सकते है.

मुख्यपृष्ठ